जी-20 में ट्रंप-आबे से मिले पीएम मोदी

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी-20 शिखर सम्मेलन में शिरकत करने के लिए अर्जेंटीना में हैं। उन्होंने शुक्रवार को ब्यूनर्स आयर्स में अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे से मुलाक़ात की। तीनों नेताओं के बीच त्रिपक्षीय मसलों पर काफी देर तक बातचीत हुई। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने अमरीका, जापान और भारत के रिश्ते को एक नए तरीके से परिभाषित किया।

उन्होंने कहा कि यह बैठक तीन राष्ट्रों की दूरदृष्टि का समन्वय है। मोदी ने साझा मूल्यों पर साथ मिलकर काम जारी रखने पर ज़ोर देते हुए कहा, ‘JAI’ (जापान, अमरीका,भारत) की बैठक लोकतांत्रिक मूल्यों के प्रति समर्पित है। ‘जय’ का अर्थ जीत शब्द से है।

बड़े मुद्दों पर ज़ोर

तीनों नेताओं ने संपर्क, विकास, आतंकवाद, समुद्री, साइबर सुरक्षा जैसे वैश्विक और बहुपक्षीय हितों के सभी बड़े मुद्दों पर ज़ोर दिया। उन्होंने हिंद-प्रशांत क्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय कानून और सभी मतभेदों के शांतिपूर्ण हल पर आधारित मुक्त, खुला, समग्र और नियम आधारित व्यवस्था की ओर आगे बढ़ने पर अपने विचार साझा किए।

मिले मोदी-जिनपिंग

जी-20 शिखर सम्मेलन से इतर पीएम मोदी ने चीन राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मुलाकात की। दोनों पड़ोसी देशों के बीच द्विपक्षीय संबंध मजबूत करने के तरीकों पर चर्चा हुई। पीएम मोदी और जिनपिंग के बीच ये इस साल की चौथी मुलाकात थी। पीएम मोदी और जिनपिंग अप्रैल में चीनी शहर वुहार में हुई अपनी अनौपचारिक बैठक में मिले थे। दोनों नेता जून में चिंगदाओ में हुए शंघाई सहयोग संगठन सम्मेलन में मिले थे और फिर जुलाई में दक्षिण अफ्रीका के जोहान्सबर्ग में ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में दोनों की मुलाकात हुई थी।

कालेधन पर चर्चा

जी-20 शिखर सम्मेलन में पीएम मोदी ने काले धन पर भी चर्चा की। उसके खिलाफ दुनियाभर के सभी विकासशील देशों से एकजुट होने की अपील की। मोदी ने उन खतरों की ओर भी ध्यान दिलाया, जिनका सामना आज दुनिया कर रही है।

योग का अर्थ है जोड़ना – पीएम मोदी

ट्रंप ने रद्द की पुतिन के साथ बैठक

जीएसटी के बारे में जानेगी दुनिया

Share.