नाना पाटेकर को मिलेगा देवी अहिल्या पुरस्कार

0

लंबे समय से बॉलीवुड अभिनेता नाना पाटेकर बड़े परदे से दूर हैं| साधारण रूप से अपना जीवन जीने वाले नाना पाटेकर इस समय समाज कल्याण के कार्यों में लगे हैं| बुधवार को एक बैठक के दौरान लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने बताया, नाना पाटेकर को देवी अहिल्या पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा| जय हिंद भवन में हुई बैठक में ताई ने कहा, अहिल्याबाई की पुण्यतिथि पर स्कूलों में कार्यक्रम किए जाते हैं|

उन्होंने आगे कहा कि इसका मकसद छिपी हुई प्रतिभा को निखारना है| समिति हर वर्ष गुणीजन का सम्मान करती है, लेकिन इस बार ग्रामीण क्षेत्र के दो ऐसे व्यक्तियों को सम्मानित करेगी, जिन्होंने बिना किसी नाम के सार्वजनिक क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य किया हो|

शोभायात्रा समिति के संयोजक शंकर लालवानी ने तैयारियों की जानकारी दी| इस बैठक में केरलीय, नेपाली, गोस्वामी और बंगाली समाज के लोग भी शामिल थे| ग्रीटिंग बनाओ प्रतियोगिता से मिले ग्रीटिंग समाज के गणमान्य नागरिकों को बेचे जाने का फैसला भी लिया गया|

प्रतियोगिता की जानकारी ग्रामीण क्षेत्र के संयोजकों ने दी| ग्रामीण क्षेत्र के दो विशिष्ट लोगों को आठ सितंबर को लकी वांडरर्स हॉल में दोपहर साढ़े तीन बजे सम्मानित करेंगे| उसके बाद अहिल्याबाई की पालकी यात्रा भी यहीं से निकलेगी|

नाना पाटेकर ने ‘तिरंगा’, ‘क्रांतिवीर’ जैसी फिल्मों से अपने अभिनय का लोहा मनवाया है| महाराष्ट्र की जनता नाना की सच्ची समाजसेवा से न केवल वाकिफ हैं बल्कि बहुत प्रभावित भी है| उनका फाउंडेशन ज़रूरत पड़ने पर गरीबों की मदद करता है| नाना पाटेकर ने महाराष्ट्र में सूखे के समय कई किसानों के परिवार को आर्थिक सहायता देकर उन्हें आत्महत्या करने से बचाया था| उनकी चैरिटेबल संस्था ने 700 से अधिक सूखाग्रस्त क्षेत्रों में जलाशयों का निर्माण भी करवाया| इस वजह से उन्हें इस पुरस्कार से नवाज़ा जाएगा|

Share.