ठाकरे के आने से पहले मुस्लिमों ने छोड़ी अयोध्या

0

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे 25 नवंबर को राम मंदिर निर्माण के लिए अयोध्या की यात्रा करने वाले हैं| इस वजह से यहां के मुस्लिमों में डर फ़ैल गया है और वे यहां से पलायन कर रहे हैं| जानकारी के अनुसार, करीब 3,500 मुस्लिम शहर छोड़कर भाग गए हैं| वहीं कुछ लोगों ने अभी से घरों में राशन इकठ्ठा करना शुरू  कर दिया है| 24-25 नवंबर को होने वाले कार्यक्रमों को देखते हुए यहां सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम कर दिए गए हैं|

फैजाबाद के पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार सिंह ने आश्वासन दिया कि मुसलमान समुदाय को पूरी सुरक्षा मिलेगी| उन्होंने कहा कि किसी को डरने की ज़रूरत नहीं है| हम प्रस्तावित कार्यक्रमों के दौरान मजबूत सुरक्षा व्यवस्था कर रहे हैं| उद्धव ठाकरे के साथ ही विश्व हिन्दू परिषद के धर्म संसद की तैयारियां जोर-शोर से चल रही हैं| विहिप को एक लाख से अधिक लोगों के आने की उम्मीद है| शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे आज यानी 24 नवंबर को अयोध्या पहुंच रहे हैं|

व्यापारी करेंगे विरोध प्रदर्शन

संयुक्त व्यापार मंडल ने गुरुवार को कहा कि वे वीएचपी की धर्मसभा का विरोध करेंगे और मुंबई से यहां आ रहे शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे को काला झंडा दिखाएंगे| गौरतलब है कि 6 दिसंबर 1992 को बाबरी मस्जिद विध्वंस किया था, जिससे कई दिनों तक अयोध्या का माहौल तनावपूर्ण रहा था| दोबारा ऐसा घटना की आशंका के मद्देनजर व्यापारियों ने वीएचपी के रोड शो का बहिष्कार करने का भी फैसला किया है|

लखनऊ में शुक्रवार को पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि अयोध्या में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए एक अपर पुलिस महानिदेशक स्तर के अधिकारी, एक उप पुलिस महानिरीक्षक, तीन वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, 10 अपर पुलिस अधीक्षक, 21 क्षेत्राधिकारी, 160 इंस्पेक्टर, 700 कांस्टेबिल, पीएसी की 42 कंपनी, आरएएफ की पांच कंपनियां तैनात की गई हैं| इसके अलावा, एटीएस के कमांडो और ड्रोन कैमरे भी निगरानी के लिए तैनात किए गए हैं|

Share.