मुस्लिम की जमीन भगवान के लिए

0

उत्तरप्रदेश के बुलंदशहर में कुछ दिन पहले हुई हिंसा ने जहां पूरे प्रदेश पर एक दाग लगा दिया था और पूरे देश में एक बार फिर असहिष्णुता का माहौल पनपने लगा था, उसी बीच यूपी के मेरठ से एक सांप्रदायिक सद्भाव का मामला सामने आया है। यूपी के मेरठ में एक मुस्लिम महिला ने मिसाल पेश करते हुए अपनी जमीन मंदिर को दान देने की घोषणा कर दी। मुस्लिम महिला की दान की गई जमीन पर मंदिर निर्माण भी शुरू हो गया है।

दरअसल, मेरठ के सिवालखास में रहने वाली एक मुस्लिम महिला अकबरी ने मंदिर के लिए चंदा मांगने आए कुछ लोगों को अपनी जमीन बिना अपने पति के इजाजत के दान दे दी। अकबरी के पति का नाम आस मोहम्मद बताया गया है। मोहम्मद एक रिटायर्ड शिक्षक हैं। जब लोग उनके घर मंदिर के लिए चंदा मांगने पहुंचे, तब अकबरी के पति घर पर नहीं थे। लोगों ने अकबरी से उनकी जमीन खरीदने की बात कही, लेकिन अकबरी ने कहा कि वह खुद ही 100 गज जमीन मंदिर निर्माण के लिए दान देना चाहती हैं। अकबरी की बात सुन लोगों को यक़ीन नहीं हुआ। जब अकबरी ने इस बात पर जोर दिया, तब लोगों के चेहरे ख़ुशी से खिल उठे।

मोहम्मद के घर आते ही अकबरी ने जमीन दान देने की बात बताई तो मोहम्मद ने भी सहमति जाता दी और मंदिर निर्माण के लिए अपनी  100 गज जमीन दान में दी। अकबरी ने इस मामले में कहा कि वे अपने धर्म में पूरा विश्वास रखने के साथ ही दूसरे धर्मों का भी आदर करती हैं। मस्जिद के लिए तो वे हमेशा दान करती हैं, लेकिन पहली बार मंदिर के लिए दान देकर उन्हें बहुत ख़ुशी हुई है।

बुलंदशहर हिंसा : मृतक के परिजन से मिले योगी

बुलंदशहर हिंसा के आरोपियों की तस्वीर जारी

बुलंदशहर पुलिस का दावा निकला खोखला

Share.