website counter widget

image1

image2

image3

image4

image5

image6

image7

image8

image9

image10

image11

image12

image13

image14

image15

image16

image17

image18

सही प्लॉट को अवैध बताकर कर दी कार्रवाई

0

इंदौर नगर निगम द्वारा लगातार शहर में की जा रही कार्रवाई को लेकर हमेशा प्रश्न उठते रहे हैं। अब एक बार और नगर निगम इंदौर पर पक्षपात पूर्ण कार्रवाई करने के आरोप लगे हैं। इंदौर के फूटी कोठी इलाके में नगर निगम की टीम ने एक प्लॉट को तोड़ने की कार्रवाई सिर्फ इसलिए की क्योंकि उक्त प्लॉट के फर्जी कागजात लेकर महापौर का भंजा कब्ज़ा करने की फिराक में था। इसी के चलते नगर निगम की टीम ने महापौर के दबाव में निर्माणाधीन प्लॉट को धराशायी कर दिया। सबसे बड़ी बात यह रही कि निगम की टीम ने जिस प्लॉट पर कार्रवाई की वह प्लॉट एक भाजपा पदाधिकारी का ही था।

इंदौर के फूटी कोठी इलाके में हवा बंगला झोन के सामने बने प्लॉट नंबर 15 को लेकर 3 साल पहले महापौर के भांजे कृष्णा राठौर का प्लॉट धारक नितिन सुर्वे से विवाद हुआ था। कृष्णा राठौर जिला प्रशासन इंदौर में आरआई भी है, जिसने प्लॉट धारक को प्लॉट छीनने की धमकी भी दी थी। इसके बाद यह मामला बढ़कर पुलिस थाने पहुंचा था। पुलिस ने मामले की जांच एसडीएम को सौंपी थी। जिसके बाद एसडीएम बिहारी सिंह ने फैसला प्लॉट धारक के पक्ष में दिया था।

इसके बाद से ही राठौर और नितिन सुर्वे के बीच प्लॉट को लेकर कई बार चर्चा भी होती रही, लेकिन सुर्वे ने प्लॉट उन्हें देने से मना कर दिया। दिसंबर 2017को अपने पक्ष में फैसला आने के बाद नितिन सुर्वे ने अपने मकान पर काम शुरु किया था, जिसके बाद निगम की टीम ने उनके प्लॉट को अवैध बताते हुए उसे तोड़ने की कार्रवाई की।

निगम अधिकारियों से पूछे जाने पर उन्होंने प्लॉट को रोड़ के बीच में आना बताया, जबकि काॅलोनी में बने अन्य मकानों पर किसी भी तरह की अनियमितताओं से निेगम की टीम ने इनकार किया। ऐसे में एक बार फिर से इंदौर महापौर की हठधर्मिता को लेकर अब शहर में सवाल उठने लगे हैं।

200 पुलिसकर्मी पहुंचे कार्रवाई करने

प्लॉट पर कार्रवाई करने के लिए निगम दल के साथ बड़ी संख्या मंे पुलिसबल भी पहुंचा। करीब 200 पुलिसकर्मियों की मौजूदगी में निगम की टीम ने प्लॉट पर निर्माण को ध्वस्त करने की कार्रवाई की।

खुद भाजपा कार्यकर्ता है प्लॉटधारक

निगम की ओर से जिस प्लॉट धारक के प्लॉट पर कार्रवाई की गई है, वह भी भाजपा का ही पदाधिकारी है। नितिन सुर्वे भाजपा ओबीसी मोर्चा के नगर उपाध्यक्ष हैं। वे विधायक रमेश मैंदोला के कार्यकर्ता हैं और लगातार कई वर्षों से भाजपा के कई कार्यक्रमों में अपनी सक्रीयता भी दिखाते रहे हैं, लेकिन बावजूद इसके उनके प्लॉट पर की गई कार्रवाई को लेकर वे खुद भी हैरान हैं।

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.