एक से अधिक बैंक अकाउंट से होंगे यह नुकसान

0

ज्यादातर लोगो के पास इन दिनों एक से ज्यादा बैंक अकाउंट (bank accounts) हैं| बि‍ना किसी जरूरत के दो या उससे ज्यादा अकाउंट खुलवाना अब आपके लिए मुश्किल का सबब बन सकता है | अकाउंट को मेंटेन नहीं कर पाना भी एक आम आदत या समस्या हैं| नौकरीपेशा लोगों के लिए इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि एक उनका सैलरी अकाउंट और दूसरा उनका पर्सनल सेविंग अकाउंट होता है| ऐसे में आज हम आपको बता रहे हैं एक से ज्‍यादा अकाउंट (Multiple Bank Accounts) खोलने पर आपको कैसे नुकसान हो सकता है|

क्रेडिट कार्ड बिल का सेटलमेंट बन सकता है परेशानी

एक से ज्यादा अकाउंट (Multiple Bank Accounts) से नुकसान –

सेविंग अकाउंट में बैंक की ओर से मि‍नि‍मम बैलेंस रखने का प्रावधान होता है|
ऐसा न करने पर बैंक आपसे पेनल्टी वसूलता है|
कई बैंकों में मि‍नि‍मम बैलेंस की सीमा 10,000 रुपए है|
ऐसे में अगर आपके पास दो से ज्यादा अकाउंट हैं तो आपकी टेंशन बढ़ सकती है, क्योंकि आम आदमी के लिए सेविंग अकाउंट में 20,000 रुपए जमा रखना काफी मुश्किल है|
ज्यादा बैंकों में अकाउंट होने से टैक्स जमा करते समय काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है|

ड्राइविंग लाइसेंस से इस तरह करें आधार कार्ड को लिंक


कागजी कार्रवाई में भी अधिक माथापच्ची करनी पड़ती है|
साथ ही इनकम टैक्स फाइल करते समय सभी बैंक खातों से जुड़ी जानकारियां रखनी पड़ती है|
अक्‍सर उनके स्टेटमेंट का रिकॉर्ड जुटाना काफी पेचीदा काम है|
कई अकाउंट होने से आपको सालाना मेंटनेंस फीस और सर्विस चार्ज देने होते हैं|
क्रेडिट और डेबिट कार्ड के अलावा अन्य बैंकिंग सुविधाओं के लिए भी बैंक आपसे पैसे चार्ज करता है|
इससे भी आपको काफी नुकसान होगा |
एक से ज्यादा बैंकों में अकाउंट होने से आपको कम ब्‍याज के रूप में भी नुकसान होता है|
यानी एक से ज्‍यादा अकाउंट होने से आपका बड़ा अमाउंट बैंकों में फंस जाता है|
उस राशि पर आपको ज्यादा से ज्यादा 4 से 5 फीसदी ही सालाना रिटर्न मिलता है|तो यदि आप भी एक से ज्यादा बैंक खाते रखते है तो इन बातों का ध्यान रखे |

भारतीय रेलवे अब चलती ट्रेन के अंदर भी देगा फ्री वाई-फाई

Share.