यादव बोले- मरने के बाद होगा मेरा सम्मान

0

“ऐसा वक्त आ गया है, जब मेरा कोई सम्मान नहीं करता है, लेकिन शायद मेरे मरने के बाद लोग मेरा सम्मान करेंगे।” ये उदगार थे समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता कर पूर्व सपा प्रमुख मुलायमसिंह यादव के। वे समाजवादी नेता भगवती सिंह के 86वें जन्मदिन समारोह में बोल रहे थे। मुलायमसिंह के इस बयान के बाद यह माना जाने लगा कि समाजवादी पार्टी में उनके प्रति जो रवैया है उससे वे व्यथित हैं।

अपने संबोधन में भगवती सिंह को लेकर उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी के गठन में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही है। उन्होंने संगठन को मजबूत करने के लिए बहुत काम किया है। उन जैसे नेताओं की कोशिशों के चलते पार्टी इस मुकाम तक पहुंच पाई है। इस कार्यक्रम में उन्होंने राममनोहर लोहिया की भी खूब प्रशंसा की। मुलायमसिंह ने आगे कहा “राममनोहर लोहिया के साथ भी ऐसा ही हुआ था। एक वक्त ऐसा आ गया था, जब वे भी कहा करते थे कि इस देश में जिंदा रहते कोई सम्मान नहीं करता है।”

मुलायमसिंह पहले भी ऐसे बयान दे चुके हैं। इतना ही नहीं उन्होंने अपने बेटे अखिलेश यादव को भी कई बार नसीहत दी है। पिछले साल पार्टी नेतृत्व को लेकर हुए विवाद के दौरान मुलायमसिंह ने कहा था कि पिता होने के नाते उनका आशीर्वाद बेटे अखिलेश के साथ है, लेकिन वह उनके फैसलों से सहमत नहीं हैं।

पिछले साल पार्टी नेतृत्व को लेकर समाजवादी पार्टी के भीतर जो हंगामा हुआ था उसके बाद आपसी कलह खुलकर सामने आ गई थी। नेतृत्व को लेकर पिता और पुत्र कोर्ट तक पहुंच गए थे। आखिरकार अखिलेश को पार्टी का नेतृत्व मिला लेकिन, उस घटना के बाद से मुलायम सिंह का दर्द कई मौकों पर छलक चुका है। पार्टी अध्यक्ष पद से हटने के बाद मुलायमसिंह यादव ने उत्तरप्रदेश में पार्टी संबंधित गतिविधियों में शामिल होना भी काम कर दिया है।

Share.