website counter widget

इंदौर और भोपाल के ठगों ने 8 लोगों से करीब 5.5 लाख रुपए ठगे

0

मध्यप्रदेश में ठगी और धोखाधड़ी के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं| आज ही उज्जैन से दो महिलाओं और एक पुरुष द्वारा तंत्र-मंत्र के नाम पर एक युवक से 14 लाख रुपए ठगे जाने का मामला सामने आया था | आज ही प्रदेश से एक और ठगी का मामला सामने आया है| इससे पुलिस की कार्यप्रणाली पर प्रश्नचिन्ह लग रहा है |

कुलभूषण : अब पाकिस्तान उठा सकता है यह कदम, दिए संकेत

प्राप्त जानकारी के अनुसार, सरकारी नौकरी दिलवाने के नाम पर इंदौर और भोपाल के चार लोगों ने मिलकर जावरा, रतलाम, मंदसौर व नागदा के कुल 8 लोगों से करीब 5.5 लाख रुपए ऐंठ लिए। इन सभी को जब न नौकरी मिली और न ही उनके रुपए लौटाए गए तो ठगाए युवकों ने इस मामले में पुलिस थाने में शिकायत की। पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

सिटी थाना प्रभारी अभिनव शुक्ला ने बताया, “इंदौर निवासी गोपाल परिहार के मार्फत भोपाल निवासी डॉ.रणजीतसिंह, पीसी बांधेवाल और आशा बांधेवाल ने युवकों को नौकरी दिलवाने का झांसा दिया। इन्होंने जावरा, रतलाम, मंदसौर व नागदा के कुल 8 लोगों से नौकरी लगने के एवज में तीन-तीन लाख रुपए की मांग की। ये राशि किस्तों में देना थी।

Video : आकाश विजयवर्गीय की माफ़ी, बीजेपी की नौटंकी!

इनकी चिकनी-चुपड़ी बातों में आकर और इन पर विश्वास करते हुए जावरा निवासी सालीगराम पिता मायाराम धाकड़, इमरान पिता इरशाद, दिलीप पिता गोवर्धन बसेर, दिनेश पिता मन्नालाल माली, रतलाम निवासी विनोद पिता रामचंद्र कटारिया, नीलेश पिता सीताराम, मंदसौर निवासी शाहदाब पिता एहमद हुसैन एवं नागदा निवासी मुकेश पिता किशन भाटिया ने कुछ रुपए दे दिए।

किसी ने 25 हजार, किसी ने 50 तो किसी ने 75 हजार रुपए तक दे दिए, लेकिन दो साल से आरोपी केवल झांसा देते रहे। न रुपए लौटाए और न नौकरी दिलवाई। शिकायत आने पर पुलिस ने बुधवार देर शाम धारा 420, 34 में प्रकरण दर्ज किया है। थाना प्रभारी शुक्ला ने बताया, “आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद घटनाक्रम का पूरा खुलासा होगा।“

दो महिलाओं और एक पुरुष ने लगाया 14 लाख का चूना

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.