website counter widget

इस बात पर दो फेरों के बाद रुकवा दी शादी

0

मध्यप्रदेश के ग्वालियर के ईसागढ़ के ग्राम ओडिला में एक अजीब सी घटना सामने आई। दरअसल,कोलारस के रामगढ़ चक्क निवासी परमा आदिवासी के बेटे खुशालीराम की शादी ईसागढ़ के ओडिला निवासी मोहर सिंह की बेटी सबीना के साथ 17 जून को तय हुई थी। तय तारीख पर रामगढ़ चक्क निवासी परमा आदिवासी अपने बेटे  खुशालीराम और  30 बाराती के साथ   ट्रैक्टर- ट्रॉली लेकर ओडिला पहुंचे  गए।  बारातियों का स्वागत कर दूल्हा- दुल्हन मंडप में बैठ गए और रस्में शुरू कर दी गईं| जैसे ही दूसरा फेरा शुरू हुआ (marriage has stopped after two fera) तभी वधू पक्ष ने शादी रुकवा दी।

जब वर पक्ष ने शादी रोकने की वजह (marriage has stopped after two fera) पूछी, तब उनका कहना था कि लड़के वालों और लड़की के मामा दोनों का गौत्र नकटेले है और इस मुताबिक वर-वधू दोनों भाई-बहन हुए। उनका मानना है कि यदि एक गोत्र में शादी होती है तो रिश्ते  दोनों भाई-बहन हो जाते हैं। वहीं वर पक्ष का कहना है कि हम लोग  दूल्हे को घोड़े पर बैठाकर और बारातियों को जीप और बस से लेकर नहीं आए इसलिए शादी रोकी गई है। शादी टूटने  बाद वधू पक्ष के लोगों ने ट्रॉली से सारा दहेज का सामान निकाल दिया। इसके बाद  रामगढ़ चक्क निवासी परमा आदिवासी और कुछ बाराती  थाने (marriage has stopped after two fera) पहुंच गए।

ज्योतिष शास्त्र , पंडित और विज्ञान का यह कहना है (marriage has stopped after two fera)

हिंदू धर्म में एक गोत्र में शादी करना (marriage has stopped after two fera) निषेध है। इसका कारण यह है कि यदि एक गोत्र में शादी होती है तो लड़का-लड़की परस्पर भाई-बहन होंगे और वह पति-पत्नी नहीं माने जाएंगे। साथ ही  दम्पति की संतान आनुवांशिक दोषों के साथ पैदा होगी।

विज्ञान  हमारी धार्मिक मान्यता को कई बार गलत ठहराती है, लेकिन कहीं न कहीं विज्ञान भी इस प्रतिबन्ध को स्वीकारता है कि ऐसे दम्पतियों की संतानों में एक सी विचारधारा होती है, कुछ नयापन देखने को नहीं मिलता।  महान विचारक ओशो का इस बारे में कहना था कि विवाह जितनी दूर हो उतना अच्छा होता है, क्योंकि ऐसे दम्पति की संतान गुणी और प्रभावशाली (marriage has stopped after two fera) होती है।

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.