website counter widget

सीता मंदिर: शिवराज सिंह के ट्वीट से गर्माया मामला

0

देश में एक ओर जहां राम मंदिर (ram mandir) को लेकर बहस चल रही है, वहीं दूसरी ओर मध्य प्रदेश में सीता मंदिर (sita mandir)  को लेकर बवाल शुरू हो गया है| श्रीलंका के दिवूरमपोला में सीता मंदिर बनाने का मामला फिर से गर्माया है| मध्यप्रदेश के कांग्रेस और बीजेपी नेताओं में सीता मंदिर को लेकर जंग झिड़ी हुई है| मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chouhan) ने श्रीलंका में सीता मंदिर बनाने के मुद्दे को लेकर ट्वीट किए है|

वहीं कांग्रेस नेता पी सी शर्मा ने इस मुद्दे पर कहा कि कमलनाथ सरकार एक अधिकारी को श्रीलंका भेजकर इसकी जांच कराई जाएगी कि वहां मंदिर बनाया जाना चाहिए या नहीं| राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने कार्यकाल के दौरान साल 2010 में श्रीलंका में मां सीता का मंदिर बनाने की घोषणा की थी| घोषणा के मुताबिक रावण ने श्रीलंका में जिस स्थान पर मां सीता को रखा था, वहां उनका मंदिर बनाने की बात कही गई थी|

स्टेट बैंक के 1200 करोड़ रुपए गए पानी में  


कांग्रेस नेता पीसी शर्मा को जवाब देते हुए पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को एक ट्वीट किया था, जिसमें उन्होंने लिखा था कि सारा देश, सारी दुनिया जानती है कि सीताजी लंका में अशोक वाटिका में रखी गईं थी और उन्होंने अग्नि-परीक्षा भी दी थी| कांग्रेस नेता पी सी शर्मा के जवाब में भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार (17 जुलाई) को ट्वीट कर लिखा, ‘सारा देश, सारी दुनिया जानती है कि सीताजी लंका में अशोक वाटिका में रखी गईं थी और उन्होंने अग्नि-परीक्षा भी दी थी और श्रीलंका में सीता मंदिर का भव्य मंदिर का निर्माण होना चाहिए|

Video : मंच से जीतू पटवारी ने कहा, मुझे अंग्रेजी नहीं आती

 

एक अन्य ट्वीट में शिवराज ने लिखा , कमलनाथ सरकार के अफसर श्रीलंका जाकर ‘सर्वे’ कराकर वेरिफाई करेंगे कि माता सीता का अपहरण हुआ था या नहीं! मित्रों, इससे ज़्यादा हास्यास्पद कुछ हो सकता है क्या? पूरी दुनिया जिस सत्य को जानती है, उसकी जाँच कराने की बात करके कमलनाथ सरकार ने करोड़ों लोगों की भावनाओं को ठेस पहुँचाई है!

सड़क हादसे में SDO, उनकी पत्नी तथा दोनों बच्चों की मौत

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.