website counter widget

शिव ने फिर कमल के साथ अपनी दोस्ती निभाई

0

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान और सीएम कमलनाथ (shivraj singh chouhan with kamalnath) भले ही राजनीतिक परिदृश्य में एक-दूसरे के विपक्षी हों, लेकिन सामाजिक जीवन में दोनों एक-दूसरे के अच्छे दोस्त हैं| इन दोनों के याराने के बारे में काफी लोग नहीं जानते हैं। कई मौकों पर उन्होंने कमलनाथ (Kamal Nath Floor Test ) का साथ दिया है | अब उन्होंने एक बार फिर कमलनाथ के साथ अपनी दोस्ती निभाई है | दरअसल, उन्होंने कमलनाथ का साथ देने का फैसला किया है |

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कमलनाथ की परेशानी दूर की

इस बार उन्होंने कमलनाथ का साथ देकर अपनी ही पार्टी के नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के लिए परेशानी खड़ी कर दी है | दरअसल, जब नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने फ्लोर टेस्ट (Kamal Nath Floor Test ) की चुनौती पेश की तो शिवराजसिंह (shivraj singh chouhan with kamalnath) ने इस चाल को भी फेल कर दिया।

सीएम कमलनाथ के सामने फ्लोर टेस्ट (Kamal Nath Floor Test ) की चुनौती आने के 3 दिन बाद बुधवार को शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि वो फ्लोर टेस्ट के पक्ष में (shivraj singh chouhan with kamalnath) नहीं है। 2006 से लेकर 2014 तक कांग्रेस नेताओं को घर से बुलाकर टिकट और मंत्री पद देने वाले शिवराज सिंह का कहना है कि हम तोड़फोड़ में भरोसा नहीं करते। ये सरकार अपने आप ही गिर जाएगी।

दरअसल, भाजपा की गुटबाजी कमलनाथ सरकार (shivraj singh chouhan with kamalnath) को लगातार बचा रही है। 109 विधायक होने के बावजूद भाजपा के रणनीतिकार बहुमत का जादुई आंकड़ा 116 तक पहुंचने की जुगत लगा ही रहे थे कि शिवराज सिंह ने बयान जारी करके हार स्वीकार कर ली। नेता प्रतिपक्ष के चयन में रोड़े अटकाए। कैलाश विजयवर्गीय और नरोत्तम मिश्रा एक्टिव हुए तो दोनों को यूटर्न लेने के लिए मजबूर कर दिया। लोकसभा चुनाव में कुछ इस तरह के बयान दिए कि कांग्रेस को फायदा पहुंचे और अब जबकि नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव और केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर फ्लोर टेस्ट के पक्ष में हैं तो उनके इस अभियान की हवा निकाल दी।

कमलनाथ को आरिफ मसूद ने दी धमकी

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले  पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chouhan with kamalnath) ने कमलनाथ सरकार (Kamal Nath government in problem ?) पर हमला बोल दिया और मुख्यमंत्री का इस्तीफा भी मांग लिया था |

इंदौर पहुंचे शिवराजसिंह चौहान ने कहा था, (Shivraj Singh Chouhan Ask Resignation To Kamal Nath),“पूरे प्रदेश में कांग्रेस हार रही है इसलिए मंत्रियों के बजाय खुद सीएम कमलनाथ (Kamal Nath government in problem ?) इस्तीफा दें, कमलनाथ ने कहा था कि जिस मंत्री के क्षेत्र से कांग्रेस हारेगी, उसे मंत्री पद छोड़ना होगा|” शिवराज चौहान ने दावा किया कि बीजेपी मध्य प्रदेश की सभी 29 सीटें जीत रही है|”

कमलनाथ को चेतावनी, आग से ना खेलो

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.