कैलाश विजयवर्गीय से डरते हैं शिवराज!

0

मध्यप्रदेश में भाजपा (Bharatiya Janata Party) के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) के बेटे द्वारा नगर निगम के कर्मचारी की पिटाई के बाद भाजपा (BJP ) का नया रूप सामने आ रहा है। मध्यप्रदेश के कई नेता चाहे वे पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) हो, इंदौर की महापौर मालिनी गौड़ हो या फिर भाजपा के अन्य नेता सभी कैलाश विजयवर्गीय से डरे हुए हैं।

कई नेता डर के कारण आकाश विजयवर्गीय (Akash Vijayvargiya)  का दोष होते हुए भी उनका बचाव कर रहे हैं और ऊलजलूल बयान दे रहे हैं। कोई कह रहा है कि नया लड़का है, नया खून है गलती हो गई तो कोई इस मामले में नगर निगम की गलती बता रहा है। वहीँ पूर्व सीएम चौहान ने तो इस मामले पर चुप्पी ही साध रखी है।

VIDEO : सलाखों में कैद विधायक आकाश का भविष्य

मध्यप्रदेश के मोदी हैं कैलाश

कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya)  को मध्यप्रदेश की राजनीति का मोदी कहा जा रहा है। आकाश विजयवर्गीय ने निगम के कर्मचारियों को गंजी कम्पाउण्ड के उसी मकान को तोड़ने से रोका, जिसे कभी शिवराजसिंह चौहान ढहाने का आदेश दे चुके थे। विधायक आकाश ने एक मकान को मुद्दा बनाते हुए क्रिकेट का बैट हाथ में उठाकर नगर निगम के अधिकारी को पीट दिया था। इस घटना के बाद आकाश लाइम लाइट में आ गए, उनके खिलाफ पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया गया है। आकाश की लगातार याचिका भी खारिज हो रही है। पहले इंदौर से और अब भोपाल कोर्ट से भी याचिका खारिज कर दी गई।

इंदौर बैटकांड : आकाश ने जिसे मारा बल्ला, वह अधिकारी ICU में भर्ती

कांग्रेस के नाम पर क्या शिवराज पर साध रहे निशाना ?

नगर निगम के कर्मचारी की पिटाई के बाद आकाश ने स्पष्ट तौर पर कहा कि कांग्रेस के एक मंत्री के इंट्रेस्ट के लिए नगर निगम के द्वारा एक अच्छे भले मकान को अति खतरनाक मकान घोषित कर दिया गया है। इस मकान को तोड़कर मकान के किरायेदारों के साथ चल रहे मकान मालिक के विवाद को निपटाने का खेल खेला जा रहा है।

जबकि कभी उस मकान को पूर्व सीएम शिवराज ने खतरनाक घोषित किया था। भाजपा की राजनीति में एक बार फिर शिवराज सिंह चौहान और कैलाश विजयवर्गीय का शीत युद्ध शुरू होने के कयास लगाए जा रहे हैं। यह भी कहा जा रहा है कि पूर्व सीएम शिवराज ने इस मुद्दे पर इसीलिए चुप्पी साध रखी है, क्योंकि वे सक्रीय राजनीति में रहना चाहते हैं। जब उनसे एक निजी चैनल ने इंटरव्यू में इस बारे में सवाल किया था, तो भी उन्होंने चुप्पी साध ली थी। अब भाजपा के नेताओं का यह शीत युद्ध और कैलाश विजयवर्गीय से डर जग जाहिर होते जा रहा है।

आकाश विजयवर्गीय के मामले में शिवराज ने साधी चुप्पी

Share.