कमलनाथ को चेतावनी, आग से ना खेलो

0

लोकसभा चुनावों (loksabha election) के दौरान मुख्यमंत्री कमलनाथ (cm kamal nath) के गृहनगर छिंदवाड़ा में बीजेपी प्रत्याशी विवेक बंटी साहू (Vivek Bunty Sahu) को आचार संहिता उल्लंघन का दोषी मानते हुए मामला दर्ज किया गया था, जिसके बाद मंगलवार को उन्होंने थाने पहुंचकर गिरफ्तारी दी | अब इस मुद्दे पर सूबे में राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गई है| मामले में मध्य प्रदेश के बीजेपी अध्यक्ष राकेश सिंह ( rakesh singh) ने प्रदेश सरकार पर तीखा हमला करते हुए चेतावनी दी है कि कमलनाथ आग से ना खेलें|

राकेश सिंह ने कहा कि बीजेपी पहले दिन से ही कह रही है कि कांग्रेस हार रही है इसी बौखलाहट में बीजेपी कार्यकर्ताओं एवं नेताओं को निशाना बनाया जा रहा है|राकेश सिंह का कहना है कि एग्जिट पोल के आंकड़ों के सामने आने के बाद कांग्रेस सरकार के मुख्यमंत्री को प्रदेश में अपनी सरकार बचाने का कोई उपाय नहीं सूझ रहा है, उन्हें इस बात से कोई मतलब नहीं है कि केंद्र में किसकी सरकार बन रही है| वर्तमान की कांग्रेस सरकार का कोई भविष्य नहीं है क्योंकि वह अंतरविरोध से जूझ रही है उसके विधायक और सांसद कहीं साथ न छोड़ दें यह डर सता रहा है|

कमलनाथ को हटाने के लिए बीजेपी दे रही 50 करोड़ : सिंह

वहीँ सरकार गिराने की बात को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा है कि मुझे अपने विधायकों पर पूरा भरोसा है|कमलनाथ ने यह भी कहा कि दस विधायकों ने उन्हें बताया है कि फोन के जरिए प्रलोभन देकर उन्हें तोड़ने की कोशिश की जा रही है| लेकिन हमें अपने विधायकों पर पूरा विश्वास है और विपक्ष अपने मंसूबों पर सफल नही होगा| कमलनाथ ने बीजेपी पर विधायकों को पैसे देकर खरीदने की कोशिश करने का आरोप भी लगाया है|

कमलनाथ के बाद अब बेटे बकुलनाथ की भी मुश्किलें बढ़ीं

वही नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने राज्यपाल को चिट्ठी लिखकर सत्र बुलाने की मांग की (Gopal Bhargava Wrote Letter To Governor ) है| इसके बाद मध्यप्रदेश की राजनीति में हड़कंप सा मच गया है|गोपाल भार्गव ने हाल ही में कहा था (Gopal Bhargava Wrote Letter To Governor ), “जिस तरह से केंद्र और राज्य में बीजेपी को अपार जनसमर्थन मिल रहा है| कई कांग्रेस के विधायक कमलनाथ सरकार (Kamal Nath government in problem ?) से परेशान हो चुके हैं और बीजेपी के साथ आना चाहते हैं|” उन्होंने कहा, “बीजेपी खरीद-फरोख्त नहीं करेगी, लेकिन कांग्रेस के ही विधायक अब उनकी सरकार के साथ नहीं हैं|”

कमलनाथ की आई शामत, शिवराज ने इस्तीफ़ा मांगा

Share.