मप्र की राज्यपाल ने पेश की मिसाल

0

भारत में 2014 में मोदी सरकार ने सत्ता में आने के बाद ‘स्वच्छ भारत अभियान’ की शुरुआत की थी| इस अभियान को देश के सभी शहरों से बेहतर प्रतिसाद मिला| शहरों को स्वच्छता के लिए प्रोत्साहित करने के लिए ‘स्वच्छ सर्वेक्षण’ की शुरुआत की गई, जिसमें इंदौर ने तीन बार पूरे देश में अव्वल आकर यहां के निवासियों का मान बढ़ाया| अब मप्र की राज्यपाल ने भी इस दिशा में मिसाल (Precedent by the mp governor) पेश की है|

कमलनाथ सरकार ने एक और महत्वपूर्ण फैसला लिया

दरअसल, मप्र की राज्यपाल आनंदीबेन इन दिनों पचमढ़ी प्रवास पर हैं। मध्यप्रदेश के एकमात्र हिल स्टेशन पचमढ़ी घूमने जाने वाले पर्यटकों को वहां के सुरम्य नजारों के अलावा एक अलग तरह का नज़ारा (Precedent by the mp governor) भी देखने को मिला, जब मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ की प्रभारी राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने स्वच्छता का जिम्मा उठाया|

दरअसल, पचमढ़ी में मध्यप्रदेश और छ्त्तीसगढ़ की प्रभारी राज्यपाल आनंदीबेन पटेल (Precedent by the mp governor) ने मंगलवार को गांधीगिरी दिखाई। वे सुबह भ्रमण पर निकली थीं| जब राज्यपाल ने शहर में गंदगी ​देखी तो बिना किसी को कुछ बोले वे खुद ही शहर को साफ करने में जुट गई। राज्यपाल आनंदीबेन को इस तरह सफाई करते उनके साथ चल प्रशासनिक अमला खुद को रोक नहीं पाया और वह भी राज्यपाल के साथ शहर को साफ करने में लग गए।

शिवराज सिंह ने कहा, मुख्यमंत्री जी मेरे प्रदेश को….

गौरतलब है कि राज्यपाल सुबह पचमढ़ी के शासकीय बंगले और होटलों की व्यवस्था देखने भ्रमण पर निकलीं थीं। राज्यपाल (Precedent by the mp governor) ने होटलों के आसपास पड़ी गंदगी, पन्नी, पाउच, पॉलीथिन, पानी की खाली बोतलें देख उन्हें अच्छा नहीं लगा। इसके बाद राज्यपाल महोदय ने बिना किसी को कुछ बोले स्वयं ही सफाई अभियान शुरू कर दिया| उन्होंने सड़कों पर पड़ीं पॉलीथिन, पन्नी और पाउच को उठाकर डस्टबिन में डालना शुरू कर दिया।

राज्यपाल ने (Precedent by the mp governor) इस सफाई अभियान के जरिये एक संदेश भी दिया कि जब भी कोई सैलानी पचमढ़ी जाए तो वहां स्वच्छता का विशेष ध्यान रखकर उसकी ख़ूबसूरती को और ज्यादा बढ़ाए।

इसके पूर्व प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, अक्षय कुमार, योगी आदित्यनाथ जैसे कई जनप्रतिनिधि झाड़ू लगाकर मिसाल पेश कर चुके हैं| अक्षय कुमार उनकी फिल्म टॉयलेट : एक प्रेम कथा की एक्ट्रेस भूमि पेडनेकर के साथ एक निजी प्रोग्राम में आए थे, जहां उन्होंने  योगी आदित्यनाथ के साथ सफाई की थी| इस मौके पर योगी और अक्षय ने स्कूली बच्चों को सफाई की शपथ भी दिलाई थी|  इससे पहले भी योगी बालू अड्डा स्थित मलिन बस्ती में झाड़ू लगा चुके थे । उस वक्त योगी ने केंद्र की योजना के तहत बनाए जा रहे शौचालयों का निरीक्षण भी किया था।

सेक्स रैकेट चलाने वाला सरगना भाजपा नेता ब्रजेश तोमर गिरफ़्तार

Share.