website counter widget

प्रज्ञा ठाकुर और दिग्विजयसिंह की बढ़ीं मुश्किलें

0

मध्यप्रदेश में लोकसभा चुनाव के छठे चरण में भाजपा प्रत्याशी प्रज्ञा ठाकुर और कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजयसिंह (Pragya Thakur and Digvijay Singh) के बीच मुकाबला हुआ था| इस दौरान दोनों प्रत्याशियों ने चुनाव प्रचार में कोई कसर नहीं छोड़ी थी| इस दौरान प्रचार-प्रसार में पानी की तरह पैसा बहाया गया| अब इन दोनों प्रत्याशियों की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं |

‘Modilie’ : शब्दकोश में जुड़ा ‘मोदीलाई’ हो रहा मशहूर!

दरअसल, मध्यप्रदेश में लोकसभा की 21 सीटों पर मतदान निपटते ही चुनाव आयोग प्रत्याशियों के खर्च के हिसाब-किताब फाइनल कर रहा है| इसी क्रम में आयोग ने भोपाल लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजयसिंह और बीजेपी प्रत्याशी प्रज्ञा ठाकुर (Pragya Thakur and Digvijay Singh) को फिर से नोटिस थमाया है| प्रदेश की सबसे हाई प्रोफाइल मानी जानी वाली इस सीट से खड़े इन प्रत्याशियों ने खर्च का जो ब्यौरा दिया था, आयोग उससे संतुष्ट नहीं है इसलिए दोनों को फिर से नोटिस भेजा गया है| रिटर्निंग अधिकारी और भोपाल कलेक्टर सुदाम खाड़े ने यह नोटिस जारी किया है|

चुनाव आयोग ने फिर से दिग्विजयसिंह और प्रज्ञा ठाकुर को (Pragya Thakur and Digvijay Singh) नोटिस भेजा है| दोनों के लिए ये तीसरा नोटिस है| भोपाल से खड़े हुए इन दोनों प्रत्याशियों से उनके चुनाव खर्च का ब्यौरा मांगा है| सूत्रों की मानें तो आयोग को शक है कि दोनों प्रत्याशियों ने तय सीमा से ज्यादा खर्च किया है, लेकिन हिसाब कम का दिया है| दरअसल, मतदान निपटते ही आयोग ने सभी प्रत्याशियों के खर्च का पाई-पाई का हिसाब लेना शुरू कर दिया है|

कमेंट लड़की के लिए आत्महत्या का कारण बन गए

भोपाल सीट से 30 प्रत्याशी मैदान में थे| सभी से हिसाब मांगा गया है| लेकिन मुख्य मुकाबला दिग्विजयसिंह और प्रज्ञा ठाकुर (Pragya Thakur and Digvijay Singh) के बीच होने के कारण इन दो बड़े दलों के नेताओं ने प्रचार भी ज़ोर-शोर से किया था| आयोग ने इन दोनों से 9 मई तक के खर्चे का हिसाब मांगा है| आयोग ने साध्वी से 15 लाख 65 हजार 427 रुपए का तो दिग्विजय से 25 लाख 63 हजार 190 रुपए हिसाब मांगा था| इसके लिए आयोग ने नोटिस भी जारी किया था, लेकिन दोनों ने जो जवाब भेजा, आयोग उससे संतुष्ट नहीं था| इसलिए अब उसने तीसरा नोटिस थमा दिया है|

बीते दिनों ही निर्दलीय उम्मीदवार देवेंद्र प्रकाश मिश्रा को चुनाव प्रचार पर राशि खर्च की राशि शून्य बताने पर नोटिस (Pragya Thakur and Digvijay Singh) दिया गया था, जबकि शेडो रजिस्टर में 25 हजार रुपए खर्च सामने आ रहा है|प्रत्याशियों को 25 तक अपने खर्च का हिसाब चुनाव आयोग को भेजना है| इनमें से जो भी प्रत्याशी जीतेगा उसकी रैली, जश्न, जुलूस आदि का खर्च भी इसमें जोड़ा जाएगा|

विजन डॉक्युमेंट बनाने वाले अनुरोध जैन नाराज़, दिया इस्तीफ़ा

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.