website counter widget

पुलिस की मार से थाने में एक युवक की मौत, 5 निलंबित

0

पुलिस को समाज का रक्षक कहा जाता है, जब रक्षक ही भक्षक बन जाए तो क्या किया जाए ? जिन पुलिसवालों पर भरोसा किया जाता है कि वे हमारी सुरक्षा करेंगे | पुलिस द्वारा थानों में खाकी वर्दी का रौब दिखाने की कई खबरें हमने सुनी है। कुछ पुलिस वाले अपने पूरे डिपार्टमेंट को बदनाम करते हैं और समाज में गलत सन्देश फैलाते हैं। आपने ये भी सुना होगा कि कई बार कुछ भ्रष्टाचारी पुलिसवाले रिपोर्ट लिखने के एवज में रिश्वत (bribe)  मांगते हैं। हाल ही में एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसमें पुलिस की मार से थाने में एक युवक की मौत (Bairagarh Youth Death in Custody ) हो गई|

स्कूल में बच्चों पर गिरी छत, देखें दर्दनाक Video

राजधानी भोपाल के बैरागढ़ थाने में बीती देर रात शिवम नामक युवक की मौत (Bairagarh Youth Death in Custody ) हो जाने वाले मामले में भोपाल आईजी योगेश देखमुख ने लापरवाही बरतने के आरोप में बैरागढ़ टीआई अजय मिश्रा समेत 5 पुलिस कर्मचारियों को सस्पेंड कर दिया है। सस्पेंड होने वालों में टीआई अजय मिश्रा के अलावा एसआई राजेश तिवारी, एसआई बोहराम सिंह, आरक्षक राजकुमार भटनागर और गंगाराम शामिल हैं।

वहीं इस मामले को लेकर प्रदेश के गृहमंत्री बाला बच्चन ने कहा है कि इस मामले की जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा, उस पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। उल्लेखनीय है कि मंगलवार  रात करीब ढाई बजे शिवम मिश्रा और गोविंद शर्मा नाम के युवकों की गाड़ी बीआरटीएस कॉरिडोर की रेलिंग से टकरा गई थी। आरोप है कि बैरागढ़ पुलिस बीआरटीएस कॉरिडोर से XUV निकालने के जुर्म में दोनों युवकों को उसी वक्त पकड़कर थाने ले आई। जहां दोनों की जमकर पिटाई की।

विमान में ही लड़ने लगे पायलट और क्रू सदस्य और फिर…

बताया जा रहा है कि दोनों युवक एक ढाबे से खाना खाकर लौट रहे थे. उसी दौरान की ये घटना है। शिवम के परिवार ने बैरागढ़ पुलिस पर अपने बेटे की हत्या का आरोप लगाया है। उनका कहना है पुलिस की मारपीट से शिवम की मौत हुई है। बताया जा रहा है कि शिवम के पिता भी भोपाल सायबर सेल में पदस्थ हैं।

पेट्रोल-डीजल नहीं, अब सड़कों पर चलेंगी इलेक्ट्रॉनिक गाड़ियां

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.