15 अगस्त से शुरू होगी शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया

1

चुनावी साल में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान युवाओं के लिए नौकरी की सौगात लेकर आए हैं। विधानसभा चुनाव से पहले शिवराज सरकार ने युवा वर्ग को साधने की ठानी है। मध्यप्रदेश में नियमित शिक्षकों के तीस हजार से अधिक रिक्त पदों पर भर्ती प्रक्रिया 15 अगस्त से शुरू हो जाएगी।

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने मंगलवार शाम वल्लभ भवन में संबल योजना की समीक्षा करने के बाद यह बात कही। उन्होंने अधिकारियों को शिक्षा विभाग में नियमित शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया शुरू करने के निर्देश दिए हैं। बैठक में मुख्य सचिव बीपी सिंह और संबंधित विभागों के प्रमुख सचिव उपस्थित थे।

गौरतलब है कि राज्य में 10 लाख उम्मीदवार शिक्षक भर्ती का इंतज़ार कर रहे हैं। इनमें बीएड के अलावा डीएलएड डिग्री वाले भी हैं। मध्यप्रदेश के 80 हजार अतिथि शिक्षक इस भर्ती में आरक्षण की मांग कर रहे हैं।

CM शिवराजसिंह चौहान का वादा अधूरा

मुख्यमंत्री ने 2013 के चुनाव में वादा किया था कि हर साल संविदा शिक्षक भर्ती नियमित रूप से की जाएगी परंतु तब से लेकर अब तक एक भी बार नहीं हुई। अब चुनाव के नजदीक आते मुख्यमंत्री को यह याद आया है कि युवा वर्ग बेरोजगारी से जूझ रहा है| हालांकि 10 लाख युवाओं के बीच 30 हज़ार नौकरियों का पद कोई ज्यादा महत्व नहीं रखते।

सूत्रों के अनुसार, अक्टूबर के दूसरे सप्ताह में मध्यप्रदेश में चुनाव आचार संहिता लागू हो सकती है। मुख्यमंत्री की इच्छा इससे पहले शिक्षकों की भर्ती करने की है। 15 अगस्त से यह प्रक्रिया शुरू होगी और 10 सितंबर तक पूरी कर ली जाएगी। शिक्षकों की भर्ती किस आधार पर की जाएगी, इसका फैसला अगले सप्ताह हो जाएगा। बढ़ती बेरोजगारी को देखते हुए मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान की यह पहल सराहनीय कही जा सकती है| लोगों ने भी इसे प्रशंसनीय कदम बताया है|

ये ख़बरें भी पढ़ें 

कांग्रेस का शिवराज पर हमला

शिवराज बोले – अधिकारी जल्द निपटाएं कार्य

शिवराज की आशीर्वाद यात्रा ढोंग – पटवारी

Share.