पार्षद पति और विधायक समर्थक भिड़े

0

प्रदेश की राजधानी भोपाल में भाजपा नेताओं के बीच आपसी विवाद इतना बढ़ गया कि एक सार्वजनिक कार्यक्रम में दोनों नेताओं के समर्थक आपस में भिड़ गए| भूमिपूजन के इस कार्यक्रम में विधायक रामेश्वर शर्मा का कोलार वार्ड 83 की पार्षद मनफूल मीणा के पति श्यामसिंह मीणा ने विरोध किया| इसके बाद बात इतनी बढ़ गई कि दोनों नेताओं के समर्थकों के बीच खूब लात-घूंसे चले और गालीगलौज तक होती रही| सड़क पर हुई इस लड़ाई का एक वीडियो भी सामने आया है|

बताया जा रहा है कि दोनों नेताओं के बीच 10 महीनों से चल रहा विवाद अब सामने आया है| रविवार को गांव सनखेड़ी में सड़क का भूमिपूजन करने पहुंचे सांसद आलोक संजर और हुजूर विधायक रामेश्वर शर्मा को पार्षद मनफूल मीणा और उनके पति श्यामसिंह मीणा ने भूमिपूजन करने से रोका। इस दौरान विधायक समर्थकों और पार्षद के समर्थकों में झूमाझटकी और हाथापाई भी हुई। मामला बढ़ता देखकर सांसद और विधायक दोनों सड़क निर्माण का भूमिपूजन किए बगैर ही वापस चले गए।

आपको भूमिपूजन नहीं करने देंगे

पार्षद पति ने सांसद-विधायक से कहा कि सड़क का निर्माण 28 लाख रुपए की लागत से पार्षद निधि से करवा रहे हैं| कुछ काम तो हमारे लिए छोड़ दीजिए| सब आप ही कर लेंगे तो हम क्या करेंगे| हम इसका भूमिपूजन पहले ही कर चुके हैं, आपको फिर से भूमिपूजन नहीं करने देंगे। इसके बाद विधायक बोले कि हमें गांव तो घूमने दीजिये, इस पर विधायक से पार्षद पति ने गांव दूसरी ओर होने की बात कही|  जब विधायक थोड़ा और आगे बढ़े तो पार्षद पति और उनके समर्थकों ने विधायक की गुंडागर्दी नहीं चलेगी व मुर्दाबाद के नारे लगाने शुरू कर दिए। इस बीच सांसद आलोक संजर ने बीच-बचाव किया। सांसद के समझाने के बाद भी विवाद नहीं थमा। इसके बाद दोनों के समर्थक आपस में भिड़ गए|

मीणा भाजपा से निलंबित

सोशल मीडिया पर विधायक और पार्षद पति का वीडियो वायरल होने के बाद संगठन ने पार्षद पति श्यामसिंह मीणा को भाजपा से निलंबित कर दिया। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष राकेशसिंह के निर्देश पर निलंबित करने की कार्रवाई हुई।  भाजपा जिला अध्यक्ष सुरेंद्रनाथसिंह ने बताया कि सोशल मीडिया पर भाजपा विधायक विरोधी पोस्ट डालने पर पार्षद पति को पहले नोटिस दिया था। सांसद व विधायक को भूमिपूजन करने से रोकने को लेकर हुए विवाद के बाद पार्षद पति पर निलंबन की कार्रवाई की गई।

Share.