मंदसौर गोलीकांड : पुलिस कर्मचारियों के नामों का खुलासा

0

मध्यप्रदेश के मंदसौर में 6 जून 2017 को हुए गोलीकांड  में मंदसौर के पिपलियामंडी में आंदोलन कर रहे पांच किसानों की पुलिस की गोली लगने से मौत हो गई थी। पूरे मामले की जांच के लिए जैन आयोग का गठन किया गया था, जिसने 367 दिनों में रिपोर्ट सरकार के सामने पेश की थी। इसमें 211 लोगों के बयान दर्ज हुए थे।  बाद में  मामले की जांच कर रहे जस्टिस जेके जैन के सामने पुलिसकर्मियों ने माना था कि गोली उनके हथियार से ही चली। आंदोलनकारी हथियार छीनने की कोशिश कर रहे थे। इसी छीना-झपटी में गोली चल गई, लेकिन सबके सामने उनके नामों का खुलासा नहीं किया गया था, परन्तु अब उनके नामों का खुलासा हो गया है|  

जिस किसान आंदोलन के दम पर मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार आई, उस घटनाक्रम की रिपोर्ट को लेकर अब उलझनें पैदा हो रही है। प्रदेश सरकार के गृह मंत्री द्वारा मामले के जांच आयोग की रिपोर्ट पटल पर रखने के बाद इस मामले में भारी राजनीतिक उछाल आया है। इसी कारण पहली बार किसान आंदोलन के दौरान गोली चलाने वाले सीआरपीएफ कार्मिकों और पुलिसकर्मियों के नाम भी सामने आए हैं। आयोग की रिपोर्ट के हवाले से यह बड़ा खुलासा प्रकरण के याचिकाकर्ता अभिभाषक महेश पाटीदार ने किया है।

उन्होंने खुलासा किया कि मंदसौर के पिपलियामंडी में हुए गोलीकांड को हत्याकांड कहा जाना चाहिए। पाटीदार ने कहा कि 6 जून को बही पार्श्वनाथ चौपाटी पर दिन के पौने एक बजे सीआरपीएफ के जवान बी शाजी, विजय कुमार और अरुण कुमार ने फायरिंग की थी तो चौपाटी से करीब डेढ़ किमी दूर थाने पर आरएपीटीसी इंदौर के जवान नंदलाल यादव, प्रकाश, अखिलेश गौर, नील बहादुर, हरिओम ने गोली चालन किया था। आयोग के हवाले से दी गई इस जानकारी के साथ पाटीदार ने यह भी कहा है कि पूर्ववर्ती भाजपा सरकार और तत्कालीन प्रशासन द्वारा दी गई रिपोर्ट पूरी तरह जादूगरी और मनगढ़ंत है। इस मामले मे  गृह मंत्री को अवगत कराया है। पूरे घटनाक्रम का रिव्यू कराया जा रहा है। न्याय जब तक नहीं मिल जाता तब तक यह लड़ाई जारी रहेगी।

मंदसौर गोलीकांड में कांग्रेस को भाजपा ने घेरा

मंदसौर गोलीकांड मामले में बहस टली

मंदसौर गोलीकांड में आयोग ने दी क्लीनचिट

अंकुर उपाध्याय

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.