भूख से तड़पकर मासूम की मौत, परिजनों की हालत भी गंभीर

0

बड़वानी: पूरे देश में आम आदमी के जीवन को बेहतर बनाने के लिए कई योजना कई अभियान चलाये जा रहे। जिससे आम आदमी को दैनिक जीवन सी जुडी चीजे आसानी से उपलब्ध हो जाए जैसे राशन कार्ड के द्वारा कम दाम में गरीब और अति गरीब परिवार को राशन मुहैया कराना जिससे कोई भूखा न रहे कहते है (Health Deteriorates Due To Hunger In Barwani)। क्योकि मनुष्य कि सबसे प्राथमिक जरुरत यही होती है. कहते है रोटी कपडा और मकान जिसमे रोटी सबसे पहले आती है। कपडा और मकान के बिना जीवन संभव है लेकिन रोटी के बिना नहीं । सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का लाभ क्या सच में जमीनी स्तर पर लोगो के मध्य हो रहा है। या सिर्फ ये हवा में चल रही है। सरकारी योजनाओं की पोल खोलता हुआ एक मामला मध्यप्रदेश के बड़वानी(Badwani) जिले से सामने आया है जिसमे भूख के कारण एक 8 साल के बच्चे की मौत हो गई।

कोई देश न बताए हमें क्या खरीदना है क्या नहीं: विदेश मंत्री

जानकारी के अनुसार बड़वानी (Barwani) जिले के सेंधवा ब्‍लॉक में एक ही परिवार के छह सदस्यों को उल्टी-दस्त की शिकायत के बाद सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहा इलाज के दौरान आठ साल के मासूम की मौत हो गई. और परिवार के अन्य सदस्यों की हालत गंभीर बनी हुई है। इस पूरे मामले में सदस्यों से पूंछताछ करने पर पता चला की सभी लोग कई दिनों से भूखे थे. जिसके चलते उनकी तबियत ख़राब हुई है। इस पूरे मामले को सुनने के बाद एसडीएम ने जांच के आदेश दिए हैं.

आज से महंगा हुआ घरेलू गैस सिलेंडर, जानिए कितने बढ़ गए दाम

जानकारी के अनुसार सेंधवा ब्लॉक के रहने वाले रतन के परिवार की आर्थिक स्थिति काफी खराब बताई जा रही है. रतन और उसके परिवार का गुजारा प्रतिदिन मिलने वाली मजदूरी से ही चलता है. इस पूरे मामले में पूंछताछ करने के बाद पता चला की रतन के परिवार को सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिल रहा था। राशन कार्ड नहीं होने से उसे उचित मूल्य की दुकान से राशन भी नहीं मिलता है. रतन के भाई ने भी बताया कि गांव के लोगों के जरिए समय-समय पर उनकी मदद भी की जाती रही, ताकि कम से कम उसके परिवार को दो टाइम का भोजन मिल सके.

पाकिस्तान ने किया भारत पर वार, युद्ध का ऐलान!

इलाज कर रहे डॉक्टर सुनील पटेल ने बताया की भर्ती परिवार पिछले कुछ दिनों से भूखा था जिसके चलते सभी की तबियत ख़राब हुई है। सेंधवा एसडीएम अंशु जावला ने इस पूरे मामले जांच के आदेश दिए है। और यदि परिवार को सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिल रहा है तो उन्हें सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाया जाएगा। और यदि इस मामले में किसी को दोषी पाया गया तो उसके खिलाफ कार्यवाई की जायेगी।

-Mradul tripathi

Share.