website counter widget

मांडू में लाइट एंड साउंड कार्यक्रम का शुभारंभ

0

मांडू, जिसे अपनी ख़ूबसूरत नजारों के लिए जाना जाता है| राजा बाजबहादुर और रानी रूपमती के अमर प्रेम का गवाह यह शहर इन दिनों सांस्कृतिक आयोजनों का गवाह बनता नज़र आ रहा है| मांडू के हिंडोला महल में रविवार से लाइट एंड साउंड कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया| इस लाइट एंड साउंड शो को टीम ने एक साल में तैयार किया है, जिसका शुभारंभ रविवार शाम 7 बजे पर्यटन मंत्री सुरेंद्रसिंह हनी बघेल ने किया।

समस्त पर्यटन स्थलों के लाइट एंड साउंड शो से हटकर यह मध्यप्रदेश का पहला लाइट एंड साउंड शो होगा, जिसे रंगबिरंगी लेजर लाइट और एनिमेटेड सीन के साथ बताया जा रहा है ।

पर्यटकों को रोमांचित करने वाले देश और दुनिया में प्रसिद्ध मांडू के किले की गाथा के 1400 सौ साल के इतिहास को 35 मिनट में रंगबिरंगे लेजर और एनिमेटेड विजुअल के माध्यम से मांडू के शाही परिसर स्थित हिंडोला महल की दीवारों पर पेश किया गया। इतिहास की जानकारी को बड़े ही रोचक तरीके से बॉलीवुड अभिनेता आशुतोष राणा की आवाज में प्रस्तुत किया गया|

हिन्दू परमार राजाओं के शासन काल से लेकर सल्तनत काल और मुगल शासन काल के दौरान हुए समस्त विशालकाय प्राचीन इमारतों का निर्माण का इतिहास और राजगद्दी पाने की चाह किए गए छल-कपट, तो कभी वीर योद्धाओं की वीरता से लेकर प्रेम के प्रति किए गए इस त्याग के इतिहास को बखूबी परोसा गया।

पहले मांडू आने वालों को रात के समय इस पर्यटन स्थल पर मनोरंजन का कोई साधन नहीं उपलब्ध था, इससे पर्यटक रात के समय खालीपन सा महसूस करते थे, परंतु अब वे रात में लाइट एंड साउंड शो का आनंद उठा सकेंगे| कार्यक्रम शाही परिसर के अंदर स्थित हिंडोला महल पर प्रतिदिन होगा।

पर्यटकों को मांडू आने पर शाम के समय इस इतिहास की गाथा से रोमांचित कर देगा। शो की शुरुवात रंगबिरंगी लाइटों से दर्शित किया, जिसमें मांडू के इतिहास परमार शासन काल से शुरू होकर क्रमत: इसे जहाज महल, हिंडोला महल, जामी मस्जिद, होशंगशाह मकबरे, अशर्फी महल, नीलकंठ मंदिर के साथ रूपमती मंडप और बाजबहादुर के इतिहास को दिखाया गया।

इस अवसर पर मंत्री बघेल ने कहा कि मांडू विश्व की धरोहर है और इसे सहेजने के लिए कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी जाएगी। मांडू के विकास की कार्ययोजना बनाई जा रही है। यहां आने पर्यटकों के लिए मूलभूत सुविधाएं जुटाने के लिए पूरे प्रयास किए जा रहे हैं जिसे जल्द ही मूर्ति रूप दिया जाएगा। उन्होंने कहा, अगली बार मांडू उत्सव अंतरराष्ट्रीय स्तर पर होगा और इसका स्वरूप भी बदला जाएगा। इसका प्रचार-प्रसार अंतरराष्ट्रीय स्तर पर होगा। वेबसाइट भी बनाई जाएगी। अंतरराष्ट्रीय स्तर के कलाकार इस मंच पर अपनी कला के रंग बिखेरेंगे।

धरमपुरी विधायक पांचीलाल मेड़ा, कांग्रेस जिला कार्यवाहक राकेश डोड, कलेक्टर दीपक सिंह, पुलिस अधीक्षक बीरेंद्र सिंह, पुरातत्व विभाग के प्रभारी सीए प्रशांत पाटणकर, जिला वन मंडल अधिकारी एसके सागर, कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष प्रकाश फौजदार, भोपाल से आए भारतीय पुरातत्व विभाग के सुप्रीम टंडन आदि उपस्थित थे| संचालन इंदौर के प्रभाकर मोरे ने किया।

-अंकुर उपाध्याय

टूटी पटरी से गुजरी ट्रेन और…

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.