रिटायर्ड डॉक्टरों की सेवाएं लेगी कमलनाथ सरकार

0

मध्यप्रदेश में चल रही मुख्यमंत्री कमलनाथ की कैबिनेट बैठक समाप्त हो गई है। इस बैठक में स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर बेहद ही अहम फैसला लिया गया है। इस बैठक में स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर कैबिनेट ने फैसला लिया है कि अच्छी सर्विस देने वाले रिटायर्ट डॉक्टरों की सेवाओं को लिया जाएगा। इस बात की जानकारी जनसपर्क मंत्री पीसी शर्मा (PC Sharma) और स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट (Tulsi Silawat) द्वारा मीडिया को दी गई है।

जानिए Sushma Swaraj के निधन पर राहुल, मायावती ने क्या कहा

मीडिया को जानकारी देते हुए स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट (Tulsi Silawat) ने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं के विषय में कैबिनेट बैठक में फैसला लिया गया है। इस बैठक में यह फैसला लिया गया कि मध्यप्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं को और बेहतर बनाने के लिए रिटायर्ट डॉक्टरों की सेवाओं को लिया जाएगा। जो डॉक्टर रिटायर्ड हो चुके हैं लेकिन उनकी सर्विस अच्छी है, ऐसे में उनकी सेवाओं को लिया जाएगा।

Sushma Swaraj Funeral Live Updates : सुषमा स्वराज के निधन से शोक में डूबा देश

ब्रीफिंग करते हुए जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि इस बैठक में विधायकों को लेपटॉप मुहैया करवाने के लिए 35 से 50 हजार रूपए का प्रस्ताव भी पास किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रवीण कक्कर, संजय कुमार, आरके मिगलानी प्रदेश कैबिनेट के हर फैसले में मुख्यमंत्री कमलनाथ के सलाहकार बने रहेंगे। इस पर कैबिनेट अपनी मंजूरी दे चुका है। उन्होंने आगे कहा कि इस बैठक में एक और फैसला लिया गया है और कोटवार जाति को पिछड़ा वर्ग से हटाकर एससी में शामिल करने वाले प्रस्ताव को इस बैठक में पास कर दिया गया है।

गौरतलब है कि प्रदेश में पिछले कुछ समय से मिलावटखोरों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। ऐसे में दूध में मिलावट करने वालों को लंबी सजा देना का प्रावधान भी इस बैठक के जरिए गया है। कमलनाथ सरकार की कैबिनेट की इस बैठक में छिंदवाड़ा में उद्यानिकी विद्यालय की स्थापना को भी मंजूरी दे दी गई है। अब इस विद्यालय में 2019 -20 से वरीयता के आधार पर प्रवेश दिया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग में रिटायर्ड डॉक्टरों की नियुक्ति का प्रावधान भी इस बैठक हुआ। फिलहाल प्रदेश में अभी 2663 पद रिक्त पड़े हुए हैं ज़िन्हें अब संविदा के जरिए भरा जाएगा।

भारत पर फिर होगा पुलवामा हमला : इमरान

Share.