कैलाश विजयवर्गीय का खुलासा, हनीट्रैप में सीएम कमलनाथ को नचा रहे अधिकारी

0

मध्यप्रदेश में हनीट्रैप के मामलों (Honeytrap cases in Madhya Pradesh ) के कारण भूचाल आ गया था। हुस्न के जाल में कई अधिकारी, पत्रकार और नेता फंसे हुए थे, लेकिन इंदौर नगर निगम (Indore Municipal Corporation ) के अधिकारी हरभजन सिंह के कबूलनामे के बाद ये मामले रुक गए। इन मामलों से जुड़े कई वीडियो अभी भी सरकार के पास है, लेकिन लोगों के नाम उजागर नहीं किए जा रहे हैं। अब भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (BJP national general secretary Kailash Vijayvargiya ) ने मुख्यमंत्री कमलनाथ पर हमला किया है। इतना ही नहीं उन्होने सीएम कमलनाथ (MP CM Kamal Nath ) को अधिकारियों के हाथों की कठपुतली तक बता दिया (Kailash Vijayvargiya On Honey Trap)।

‘मेक इन इंडिया’ से ‘रेप इन इंडिया’ की ओर बढ़ रहा भारत

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kailash Vijayvargiya statement on CM Kamal Nath ) पर निशाना साधते हुए कहा कि मेरा एक गंभीर आरोप मुख्यमंत्री से है। हनीट्रैप मामले में मुझे जानकारी मिली है कि इसमें बड़े-बड़े अधिकारी शामिल हैं। यदि अधिकारी ऐसे मामले में शामिल हों और बचने के लिए इंदौर जैसे बड़े धमाके करें। इन धमाकों से वे अधिकारी बच नहीं पाएंगे। मैं उन अधिकारियों को चेतावनी देता हूं कि इसमें जो भी शामिल हैं, वे बच नहीं पाएंगे। यदि सरकार ने नहीं किया तो हम करेंगे। यूरिया को लेकर विजयवर्गीय ने कहा कि कमलनाथजी के पास मैनेजमेंट है ही नहीं। उन्हें समझ नहीं आ रहा है कि यूरिया कैसे बांटें। उन्होंने कहा कि कर्जमाफी तो की नहीं, कम से कम किसानों को यूरिया तो दे दो। किसान यूरिया के लिए आंदोलन कर रहे हैं तो उन्हें डंडा दिखा रहे हैं (Kailash Vijayvargiya On Honey Trap)। किसानों का आरोप है कि यूरिया को लेकर जमकर कालाबाजारी हो रही है।

शिवसेना के बीजेपी समर्थन से एनसीपी-कांग्रेस नाराज, तोड़ा गठबंधन ?

कांग्रेस में शक्ति प्रदर्शन बहुत सामान्य बात है। जिस व्यक्ति को बड़ा नेता बनना होता है तो वह शक्ति प्रदर्शन करेगा। कमलनाथजी को यदि ज्योतिरादित्य सिंधिया को प्रदेश अध्यक्ष नहीं बनने देना होगा तो वे ढेर सारी भीड़ लेकर दिल्ली जाएंगे। यदि सिंधियाजी को प्रदेश अध्यक्ष बनना होगा तो वे भी भीड़ लेकर पहुंचेंगे। यह भीड़ एकत्रित करने का एक अच्छा माध्यम है। पश्चिम  बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बयान पर कहा कि ममताजी ने भारतीय संविधान पढ़ा है या नहीं, ये नहीं पता। हमारे यहां संघीय ढांचा है। केंद्र सरकार की जवाबदारी केंद्र करती है, राज्य की जवाबदारी राज्य सरकार करती है। नागरिकता देना केंद्र की जवाबदारी है। केंद्र कानून बनाकर संसद में पारित कर ऐसा कर सकता है। ममताजी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री हैं, बांग्लादेश की नहीं। इस प्रकार के बचकाना बयान एक मुख्यमंत्री दे तो फिर क्या कहा जा सकता है।

टुकड़ों में मिली सूटकेस के अंदर लड़की की लाश, मुंबई में सनसनी

        – Ranjita Pathare 

Share.