सिंधिया ने लिखा कमलनाथ को पत्र, याद दिलाई ज़िम्मेदारी

0

कांग्रेस पार्टी (Congress party) गृह युद्ध की मार झेल रही है। पार्टी के नेता एक दूसरे के खिलाफ बयान दे रहे हैं। ऐसा ही कुछ मामला मध्यप्रदेश कांग्रेस (Madhya Pradesh Congress) के बीच में भी चल रहा है। प्रदेश के वरिष्ठ कांग्रेसी नेता एक दूसरे के विरोधी बन गए हैं। अब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया (Scindia writes to CM) ने प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ को पत्र लिखकर उनकी ज़िम्मेदारी याद दिलाई है।

बंद कमरे में 17 गायों के मृत मिलने से हड़कंप

जानकारी के अनुसार, ज्योतिरादित्य सिंधिया (Scindia writes to CM) सीएम कमलनाथ को अभी तक चार खत लिख चुके हैं। दोनों के कार्यकर्ता एक दूसरे की खामियाँ निकाल रहे हैं। सिंधिया अपनी सभाओं में भी कमलनाथ सरकार के खिलाफ बयान दे रहे हैं। वहीं सरकार यह मानने के लिए तैयार नहीं है कि वे जनता का काम नहीं कर रही है। सिंधिया ने प्रदेश सरकार को लिखे पत्र में भिंड में बच्चों की बेहतर शिक्षा के लिए एक सैनिक स्कूल खुलवाने का प्रयार करने और एक चिकित्सा महाविद्यालय स्थापित किए जाने की मांग कि है। ये पत्र 12 अक्टूबर को लिखे गए थे। वहीं तीसरा पत्र 14 अक्टूबर को शिवपुरी में खुले में शौच करने पर दो दलित बच्चों की डंडों से पीटकर की गई हत्या के मामले में लिखा गया था। इस पत्र में उन्होने लिखा था कि पीड़ित परिवार निर्धन है इसीलिए उन्हें 10-10 बीघा जमीन और 50-50 लाख रुपये की आर्थिक मदद दी जाये।

Article 370 हटाकर भारत ने खोया कश्मीर!

कांग्रेस नेता सिंधिया ने सीएम को चौथा पत्र 15 अक्टूबर को लिखा था जिसमें उन्होने कहा था कि जिला पंचायत की कई योजनाएं बंद होने से विकास कार्य रुके हुए हैं। करैरा के किसानों की फसलें अतिवृष्टि से बर्बाद हो गई हैं। मवेशी खेतों में घूम रहे हैं, पार्टी के वचन-पत्र में हर ग्राम पंचायत में गौशाला खोलने का वचन दिया गया है। इसे प्राथमिकता से पूरा किया जाए। सिंधिया पहले भी कमलनाथ सरकार को उनके वादे याद दिला चुके हैं। सिंधी के खत के बारे में मध्य प्रदेश चुनाव अभियान समिति के संयोजक मनीष राजपूत ने कहा है कि ग्वालियर चंबल संभाग की जनता ने सिंधिया के आह्वान पर कांग्रेस को विधानसभा चुनाव में भारी जीत दिलाई थी, यहां 35 में से 26 सीटों पर कांग्रेस जीती। लिहाजा सिंधिया का दायित्व है कि वह यहां की जनता की समस्याओं की ओर सरकार का ध्यान आकृष्ट करें। इसीलिए वे सीएम को खत लिख रहे हैं।

Video : देखिए शेर से इंसान का आमना-सामना

     -Ranjita Pathare 

Share.