पटवारी पर प्रधानमंत्री और राज्यपाल पर लांछन लगाने का आरोप

0

कई मौकों पर अपने बयानों के जरिये खुद को और पार्टी को मुश्किल में डालने वाले मध्यप्रदेश के खेल एवं युवा कल्याण मंत्री जीतू पटवारी ने कुछ दिनों पूर्व दिए गए अपने एक और बयान (Jitu Patwari Controversial Statement) के जरिये बवाल मचा दिया है| शादियों में शराब के लिए कन्यादान योजना के तहत अनुदान राशि की बढ़ोत्तरी वाला बयान देने वाले कमलनाथ सरकार के कद्दावर मंत्री जीतू पटवारी अब फंस गए हैं।

आईएएस ऑफिसरों ने शिवराज पर कार्रवाई की मांग की

दरअसल, उनके इस बयान से नाराज़ होकर अब भाजपा ने उन पर पीएम नरेंद्र मोदी एवं राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के चरित्र पर लांछन लगाने का आरोप लगाया है। पटवारी की शिकायत चुनाव आयोग के अलावा एडीजी से भी की गई है। पार्टी द्वारा उन पर आपराधिक प्रकरण दर्ज करने की मांग की जा रही है।

Image result for jeetu patwari

इंदौर में बुधवार को कांग्रेस के चुनाव कार्यालय के शुभारंभ के मौके पर दिए भाषण में मंत्री जीतू पटवारी ने बॉलीवुड स्टार अक्षय कुमार को दिए पीएम मोदी के इंटरव्यू का जिक्र करते हुए कहा था कि अक्षय कुमार ने पीएम मोदी से आनंदीबेन पटेल के बारे में क्यों नहीं पूछा। इसके बाद मंच से उतरते हुए उन्हें गलती स्वीकारते हुए सफाई भी दी थी कि वे यशोदाबेन बोलना चाह रहे थे, लेकिन उनके मुंह से आनंदीबेन पटेल निकल गया।

इसी को लेकर बीजेपी ने एडीजी वरुण कपूर से शिकायत करते हुए जीतू पटवारी पर एफआईआऱ दर्ज करने की मांग की है। बीजेपी ने जीतू के भाषण की सीडी भी एडीजी को सौंपी है| साथ ही चुनाव आयोग को भी शिकायत भेज दी है। बीजेपी का कहना है कि राज्यपाल आनंदीबेन पटेल पर टिप्पणी महामहिम की गरिमा पर आघात करने वाली और पीएम के चरित्र पर लांछन लगाने वाली है।

साध्वी प्रज्ञा ने दिग्विजयसिंह को दी तीसरी उपाधि   

Image result for narendra modi

वहीं एडीजी वरूण कपूर ने कहा कि उन्हें शिकायत मिली है इसमें तथ्यों की जांच करवाकर वे अपनी रिपोर्ट चुनाव आयोग को भेजेंगे। मंत्री जीतू पटवारी ने भले ही अपनी गलती मान ली थी, लेकिन बीजेपी इस मामले को लेकर गंभीर दिखाई दे रही है। यही कारण है कि मामले को चुनाव आयोग तक ले गई है।

गौरतलब है कि रतलाम के सैलाना में आयोजित एक सरकारी कार्यक्रम में शामिल जीतू पटवारी मुख्यमंत्री कन्यादान योजना की राशि बढाकर 51 हजार रूपए किये जाने पर सरकार का गुणगान कर रहे थे | तभी एक बार फिर उनकी जुबान ने उनका साथ नहीं दिया और उन्होंने कहा कि गरीब को शादी में खाना-पीना करना पड़ता है| पीने के लिए देशी और विदेशी की अलग-अलग व्यवस्था करनी पड़ती है| ये पैसा कहा से आए, इसकी व्यवस्था भी मुख्यमंत्री कमलनाथ जी ने की (Kamal Nath Govt Giving Money For Liquor ) है|

कांग्रेस की मांग, शिवराज को चुनाव प्रचार न करने दें

Image result for anandiben patel

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.