पटवारी ने पटेल के कान में कुछ कहा, मान गए

0

जहां लोकसभा चुनाव 2019 ( Lok Sabha Elections 2019 ) को लेकर देश के 15 राज्यों की 117 सीटों पर आज मतदान जारी है, वहीं मप्र की अनेक सीटों पर इस समय नामांकन भरने का दौर जारी है| ऐसे में जहां पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी नामांकन भर रहे हैं, वहीं अपनी उपेक्षा से नाराज़ कई नेता पार्टी से बगावत कर निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में नामांकन भर रहे हैं | ऐसे में उनको चुनाव नहीं लड़ने के लिए मनाया जा रहा है| अक्सर निर्वाचन कार्यालय के बाहर ही नेताओं को मनाया जाता है, लेकिन रायसेन-विदिशा संसदीय क्षेत्र के निर्वाचन कार्यालय में आज पहली बार एक अलग तरह का नजारा देखने मिला। यहां पार्टी से गुस्सा कर नामांकन भरने आए एक प्रत्याशी के पीछे-पीछे उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी (jeetu patwari) उन्हें मनाने पहुँच गए| निर्वाचन कार्यालय में इस दौरान गजब का माहौल बन गया|

Lok Sabha Election 2019 Third Phase polling Live Update-तीसरा चरण, 15 राज्य, 117 सीट, अब तक 9 % मतदान

 Image result for jeetu patwari

दरअसल, कांग्रेस से टिकट नहीं मिलने से रूठे राजकुमार पटेल निर्दलीय फॉर्म भरने रायसेन स्थित कलेक्टोरेट पहुंच गए। राजकुमार पटेल द्वारा निर्दलीय पर्चा दाखिल होने की जानकारी जैसे ही पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को मिली, उन्होंने मुख्यमंत्री कमलनाथ को इसकी जानकारी दी। इस के बाद कमलनाथ ने जीतू पटवारी को राजकुमार पटेल को मनाने का दायित्व सौंपा|इस पर जीतू पटवारी ने राजकुमार पटेल को फोन लगाकर उनसे बात की। इस पर पटेल ने उन्हें बताया कि वे नामांकन भरने निकल चुके हैं। यह सुनते ही जीतू पटवारी ने बिलकुल देर नहीं की| वे तुरंत भोपाल से रायसेन के लिए निकले। रास्तेभर भी वे राजकुमार पटेल को मनाते, लेकिन राजकुमार पटेल मानने को तैयार नहीं हुए।

अखिलेश अभी बच्चे हैं-विनय कटियार

jeetu

रायसेन के जिला निर्वाचन कार्यालय में राजकुमार पटेल के पहुँचने के करीब 20 मिनट बाद जीतू पटवारी भी वहां पहुंच गए। पटेल के निर्वाचन अधिकारी के समक्ष जाने से पहले ही जीतू पटवारी उनके सामने खड़े हो गए और उन्हें रोक दिया। राजकुमार पटेल नाराजगी दिखाकर जीतू पटवारी को हटाते हुए अंदर जाने की कोशिश करते रहे। करीब आधे घंटे तक यह दृश्य दिखाई दिया| निर्वाचन अधिकारी के कक्ष के बाहर इस तरह का नजारा चलता रहा।3 बजे तक फॉर्म भरने का समय था| जब तक तीन नहीं बज गए जीतू राजकुमार पटेल के गले लगे उन्हें रोके रहे और उनके कान में कुछ कहते रहे। अब वे कान में क्या कहते रहे, ये तो वे ही जानें| निर्वाचन फार्म भरने का समय खत्म होते ही जीतू पटवारी ने राजकुमार पटेल को छोड़ दिया| फिर राजकुमार पटेल ने धीरे से जीतू से कुछ कहा और दोनों निर्वाचन कार्यालय से बाहर आ गए। इस प्रकार पटवारी ने पटेल को नामांकन भरने से रोक दिया।

गौतम गंभीर की सियासी पारी की शुरुआत, बीजेपी ने यहाँ से दिया टिकट

jeetu

जैसे ही यह जानकारी प्रदेश सरकार में मंत्री जीतू पटवारी को मिली तो वे भी वहां पहुंच गए और करीब 20 मिनट तक मान-मनौव्वल का दौर चला और जीतू पटवारी राजकुमार पटेल को निर्वाचन कार्यालय से बाहर लेकर आ गए।कांग्रेस ने विदिशा संसदीय क्षेत्र से शेलेंद्र पटेल को अपना उम्मीदवार बनाया है। राजकुमार पटेल इस क्षेत्र से टिकट की दावेदारी कर रहे थे। लेकिन कांग्रेस ने उन्हें मौका नहीं दिया। टिकट नहीं मिलने सा राजकुमार पटेल नाराज हो गए और उन्होंने निर्दलीय पर्चा दाखिल करने का ऐलान कर दिया। सोमवार को वो निर्दलीय उम्मीदवार का पर्चा दाखिल करने विदिशा-रायसेन संसदीय क्षेत्र के रायसेन स्थित निर्वाचन कार्यालय पहुंच गए।

jkj

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.