JDA के पूर्व कार्यपालन यंत्री को 5 साल की सजा

0

जबलपुर विकास प्राधिकरण (Jabalpur Development Authority) के पूर्व कार्यपालन यंत्री जेएन सिंह (JN Singh) को 5 साल की सजा और 1 करोड़ 20 लाख रुपए का जुर्माना लगाया गया है। उन पर यह जुर्माना लोकायुकत की विशेष अदालत ने लगाया है। उन पर साल 2011 में आय से अधिक संपत्ति रखने के मामले में मुक़दमा दर्ज किया गया था। इस मामले की अंतिम सुनवाई करते हुए अदालत ने जेएन सिंह को भ्रष्टाचार निवारण एक्ट की विभिन्न धाराओं में दोषी करार दिया (Engineer JN Singh)। अंतिम सुनवाई में अदालत ने उन पर 1 करोड़ 20 लाख रुपए का जुर्माना और 5 साल सजा का ऐलान किया।

Kishtwar Bus Accident : किश्तवाड़ में खाई में गिरी बस, 30 से ज्यादा यात्रियों की मौत

गौरतलब है कि भ्रष्टाचार के मामले में साल 2011 में जेएन के खिलाफ छापेमारी की गई थी। लोकायुक्त के विशेष लोक अभियोजक प्रशांत शुक्ला ने बताया कि कार्यपालन यंत्री जेएन सिंह के पास छापेमारी की इस कार्रवाई में आय से 200 प्रतिशत अधिक की संपत्ति पाई गई थी (Engineer JN Singh)। इस छापेमारी में 1 करोड़ 91 लाख रुपए की कुल चल और अचल संपत्ति प्राप्त हुई थी। जबकि पूर्व कार्यपालन यंत्री जेएन सिंह की आय 62 लाख रुपए ही रही थी। इसके बाद उन पर आय से अधिक सम्पत्ति का मामला दर्ज किया गया था। मामला दर्ज होने पर उन्हें अदालत में पेश किया था।

आजम खान ने मंच से दी खुली गाली

आय से अधिक सम्पत्ति मामले में जांच के दौरान पूर्व कार्यपालन यंत्री जेएन सिंह लोकायुक्त की टीम को इस सम्पत्ति का ब्यौरा देने में असमर्थ रहे थे। जेएन सिंह के खिलाफ आय से अधिक सम्पत्ति की शिकायत मिलने पर साल 2011 में उनके सभी ठिकानों पर लोकायुक्त की टीम ने छापामारा था। इस कार्रवाई में प्राप्त हुई चल और अचल संपत्ति का जब आकलन किया गया था तो वह उनकी आय से कई गुना ज्यादा था। इस आधार पर लोकायुक्त ने कोर्ट के समक्ष जांच रिपोर्ट प्रस्तुत की थी। जब जांच में पूर्व कार्यपालन यंत्री जेएन सिंह से इस सम्पत्ति का ब्यौरा मांगा गया तब वे इसका ब्यौरा नहीं दे सके थे। इसी मामले की अंतिम सुनवाई के दौरान विशेष अदालत ने जेएन सिंह पर 1 करोड़ 20 लाख रुपए का अर्थदंड लगाते हुए उन्हें 5 साल की सजा सुनाई है। पिछले 9 साल से चल रहे इस केस में शनिवार को विशेष अदालत ने सजा का एलान किया।

Two Years Of GST : पूरे हुए GST के दो साल, आज से होंगे मुख्य बदलाव

Share.