website counter widget

Indore News : कार में दम घुटने से तीन बच्चों की मौत

0

लोकसभा चुनाव के नतीजे (Lok Sabha Election 2019 Result) सामने आने के बाद इंदौर से भाजपा के शंकर लालवानी ने जीत हासिल की | इससे शहर में सभी दूर जश्न का माहौल नज़र आ रहा है| एक तरफ शहर में खुशी का माहौल है तो दूसरी ओर इंदौर के समीप सांवेर से एक दुःख भरी खबर भी सामने आ रही है| इस हादसे में घर वालों की लापरवाही से तीन मासूमों की (Three Children Died Due To Lock In Car) जान चली गई |

फर्जी कंपनी Ways2Capital का किया SEBI ने लाइसेंस निरस्त

दरअसल, आज सुबह 8 बजे एक दर्दनाक हादसा हो गया, जिसमें तीन बच्चों की मौत (Three Children Died Due To Lock In Car) की सूचना है। मिली जानकारी के अनुसार, इंदौर के समीप सांवेर में तीन मासूम बच्चे घर से सुबह आंगनवाड़ी का बोलकर निकले थे, जिसके बाद बच्चे घर से खेलते हुए समीप ही खड़ी एक कार में चले गए| जब कार में तीनों बच्चे बैठे तो कार (Three Children Died Due To Lock In Car) लॉक हो गई| कार लॉक होने से बच्चों का दम घुट गया और तीनों की मौत हो गई।

बताया जा रहा है कि बच्चों के घर के बाहर दो भंगार कारें खड़ी थीं| घर के पास में खेलते – खेलते तीन मासूम सगे भाई-बहन प्रतीक (2) बुलबुल (4) और पूनम (5)  तेज़ धूप में रखी एक पुरानी कार (एमपी-09/सीजे-0605) में बैठ गए और गाड़ी का दरवाज़ा बंद कर दिया । उसके बाद वे गाड़ी का गेट खोल नहीं पाए और दम घुटने (Three Children Died Due To Lock In Car) से तीनों मासूमों की मौत हो गई । उन्हें सांवेर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर लाया गया| डॉक्टरों ने जांच की तब तक बच्चों की मौत हो गई । तीनों के पिता का नाम पवन लोढ़ी है।

ओ भिया..! अपने High Rated Gabru गुरु रंधावा इंदौर आ रहे हैं…

बताया जा रहा है कि बच्चे सुबह 8 बजे घर से आंगनवाड़ी का बोलकर निकले और वापस नहीं लौटे तो घरवालों ने बच्चों को ढूंढना शुरू किया| करीब 2 घंटे तक बच्चों के परिजन बच्चों को ढूंढते रहे, लेकिन इन 2 घंटों में इन परिजन की नज़र घर के सामने खड़ी भंगार कारों में नहीं गई| कुछ देर बाद जब परिजन की नज़र कार में गई तो घटना (Three children die in a car) का खुलासा हुआ| बताया जा रहा है कि यह कार कई दिनों से घटनास्थल पर ही खड़ी है| इनके कांच हमेशा खुले रहते हैं, लेकिन आज बच्चों ने कार के कांच को लगा लिया था।

वाणिज्यिक कर अधिकारी कोमल बाली के यहां छापा

थाना प्रभारी एमपी वर्मा के अनुसार, घटना चंद्रभागा वार्ड नंबर 2 की है| यहां चार-पांच महीने से कार खराब पड़ी हुई थी, जिसके अंदर बच्चे खेलते-खेलते पहुंच गए और अंदर से लॉक बंद हो गया| तीनों बच्चों के (Three children die in a car) शवों को पोस्टमार्टम के लिए सांवेर के अस्पताल भिजवाया गया है।

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.