मध्यप्रदेश के धार जिले में मॉब लिंचिंग की घटना

0

मध्य प्रदेश के धार जिले (Dhar district, Madhya Pradesh)  में बच्चा चोरी के शक में भीड़ ने बुधवार को 5 किसानों और उनके ड्राइवर (Incident Of Mob Lynching) को लाठी-पत्थरों से बुरी तरह पीटा। इसमें एक की मौत हो गई, जबकि 5 लोगों की हालत गंभीर है। भीड़ ने किसानों की दो कारों में तोड़फोड़ की। घटना तिरला इलाके के खड़किया गांव की है। पीड़ित उज्जैन जिले (Ujjain District)  के लिंबी पिपलिया गांव के रहने वाले हैं। 5 किसान मजदूरों से अपना एडवांस रुपया लेने गांव पहुंचे थे, जहां रुपए नहीं देने का मन बना चुके मजूदरों ने बच्चा चाेरी की अफवाह फैला दी। घटना के फोटो-वीडियो (viral video) में हमलावरों के चेहरे साफ़ दिखाई दे रहे हैं, फिर भी 12 घंटे में कोई गिरफ्तार नहीं हुई। पहले आप इस भीड़ का यह भयानक चेहरा देखिए, फिर सोचिए कि क्या हम किसी अपराधी के साथ भी ऐसा कुछ कर सकते हैं जो इन लोगों ने किया?

BJP-AAP में रैप बैटल, किसका टाइम आएगा, दिल्ली वाला बताएगा, देखें Video

मध्यप्रदेश के धार जिले में मोब लॉन्चिंग की घटना धार

मध्यप्रदेश के धार जिले में मोब लॉन्चिंग की घटना धार मध्य प्रदेश के धार में बच्चा चोरी के शक में भीड़ ने बुधवार को 5 किसानों और उनके ड्राइवर को लाठी-पत्थरों से बुरी तरह पीटा। इसमें एक की मौत हो गई, जबकि 5 लोगों की हालत गंभीर है। भीड़ ने किसानों की दो कारों में तोड़फोड़ की। घटना तिरला इलाके के खड़किया गांव की है। पीड़ित उज्जैन जिले के लिंबी पिपलिया गांव के रहने वाले हैं। 5 किसान मजदूरों से अपना एडवांस रुपया लेने गांव पहुंचे थे, जहां रुपए नहीं देने का मन बना चुके मजूदरों ने बच्चा चाेरी की अफवाह फैला दी। घटना के फोटो-वीडियो में हमलावरों के चेहरे दिख रहे फिर भी 12 घंटे में कोई गिरफ्तार नहीं हुई। #ViralVideo #MPNews #UjjainDistrict

Talented India News द्वारा इस दिन पोस्ट की गई गुरुवार, 6 फ़रवरी 2020

धार एसपी आदित्य प्रताप सिंह (Dhar SP Aditya Pratap Singh) ने बताया कि 2 गाड़ी में 6 लोग आए थे। किसानों ने मजदूरों को 50 हजार रु. एडवांस दिए थे। (Incident Of Mob Lynching)  लेकिन कुछ मजदूर काम किए बगैर भागकर गांव आ गए थे। तिरला के खिड़कियां गांव में इन लोगों को बुलाया गया। इन पर पत्थरबाजी की गई और पीछा किया। फिर इनके बच्चा चोर होने की अफवाह फैलाई। बोरलाई गांव के हाट बाजार में 500 लोगों से ज्यादा की भीड़ ने उन्हें दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। जो लोग इस हिंसा का शिकार हुए हैं उनमें कार चालक गणेश (38) को बड़वानी रेफर किया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। जगदीश राधेश्याम शर्मा (45), नरेंद्र सुंदरलाल शर्मा (42), विनोद तुलसीराम मुकाती (43), रवि पिता शंकरलाल पटेल (38), जगदीश पूनमचंद शर्मा को इंदौर लाया गया है। भीड़ ने पीड़ितों की कार में भी आग लगा दी। रवि की हालत गंभीर है। पुलिस ने 3 आरोपी मजदूरों अवतार सिंह, भुवनसिंह, जामसिंह की पहचान कर ली है। उनके साथ 15 से 20 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

Indore : BJP नेता हाजी इनायत हुसैन के वायरल वीडियो की सच्चाई

पीड़ित नरेंद्र शर्मा (Narendra Sharma) ने बताया कि उनके द्वारा उज्जैन (Ujjain) और तिरला (Tirla) थाना पर रिपोर्ट भी दर्ज करवाई गई थी। (Incident Of Mob Lynching)  बाद में मजदूरों का फोन आया कि आप खड़किया आ जाओ, यही अपना हिसाब कर लेंगे। हम 6 लोग दो गाड़ी लेकर बुधवार को तिरला थाने पर पहुंचे। उन्हें बताया कि खड़किया के लोगों से पैसा लेना है और वे उन्हें बुला रहे हैं। वहीं, अस्पताल में भर्ती जगदीश शर्मा ने कहा कि जैसे ही हमारी गाड़ियां गांव में घुसीं लोगों ने पथराव शुरू कर दिया। हम गाड़ी घुमाकर भागे। कुछ दूर ही चले थे कि भीड़ ने घेर लिया। लोग चिल्ला रहे थे कि बच्चा चोर आ गए। मारो.. जिंदा मत छोड़ना। भीड़ ने हमें बाहर निकाला और लोग बुरी तरह पीटने लगे। इस हिंसा के जख्मों पर मरहम लगाने के चलते अब इस पर राजनीति भी शुरू हो गई है। मध्यप्रदेश के नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने इस घटना के बाद मध्य प्रदेश सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि मध्य प्रदेश में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं है प्रदेश की बिगड़ती कानून व्यवस्था के लिए कमलनाथ सरकार जिम्मेदार है।

इसके अलावा प्रदेश के स्वस्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट (Health Minister Tulsi Silvat)  ने सभी पीड़ितों के उपचार के लिए स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिए हैं। (Incident Of Mob Lynching)  सभी घायलों को इंदौर के चोईथराम अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। सोचिये भीड़ का यह भयानक चेहरा कितना खतरनाक है। महज 50 हज़ार रुपयों के लिए किसी की प्रायोजित जान ली जा सकती है। क्या भीड़ के लिए कोई कानून नहीं है। क्या किसी भी अपराध की शंका होने पर पुलिस को बताए बिना कानून को हाथ में लेना सही है। ये सवाल हैं जो इस घटना को देखने के बाद पैदा होते हैं। ये वीडियो (viral video) आप देखें लेकिन उसके बाद ये सोचें कि आज इंसान किस तरह से हैवानियत की तरफ जा रहा है।

BJP के ट्वीटर स्टार तेजिंदर पाल सिंह बग्गा ने कहा सरकार बनते ही ये बड़ा कदम उठाया जाएगा

– राहुल कुमार तिवारी

Share.