पहले शौचालय के साथ सेल्फी उसके बाद दुल्हन के साथ सेल्फी

0

भोपाल: भारत सरकार के द्वारा इन दिनों कई स्वच्छता अभियान चलाये जा रहे है. जिससे भारत को स्वच्छ और भारतीयों को स्वस्थ रखा जा सके। स्वच्छता अभियान के अंतर्गत ही सरकार के द्वारा जगह-जगह शौचालय खुलवाएं गए है और लोगों को भी इसके लिए जागरूक किया गया है। जिनकी आर्थिक स्थिति शौचालय बनवाने के काबिल नहीं है सरकार इसके लिए आर्थिक सहायता भी प्रदान करती है। लेकिन अब प्रदेश सरकार के द्वारा एक और नियम बनाया गया है जिसमे शौचालय नहीं तो शादी नहीं जी हां अब यदि लड़की के परिवार को कन्या विवाह योजना (Kanya Vivah Nikah Scheme In MP) का लाभ लेना है तो लड़की को यह साबित करना होगा कि लड़की कि जिस लड़के से शादी हो रही उसके घर में शौचालय है। कन्या विवाह योजना का लाभ लेने के लिए जरूरी दस्तावेजों में लड़के का शौचालय के साथ सेल्फी भी लगाई जायेगी।

पर्यटकों के स्वागत को तैयार “जन्नत” 67 दिन पुरानी पाबंदी हटी

केंद्र सरकार ने आईएएस अधिकारियों कि पदोन्नति का आदेश जारी किया

कन्या विवाह योजना के अंतर्गत 51 हजार रुपये मिलते है. जिसमे 43 हजार रुपये खाते में आते है. 5 हजार का सामान और 3 हजार नकद दिए जाते है। और एक परिवार से 2 लड़कियों को इस योजना का लाभ मिलता है। एक मुस्लिम युवक ने बताया कि हमें कहा गया है कि जब तक मै शौचालय के साथ सेल्फी नहीं भेजूंगा तब तक काजी साहब निकाह नहीं पढ़वाएंगे (Kanya Vivah Nikah Scheme In MP)। इस प्रकार कि फोटो भेजने में हमें शर्म आ रही है।राज्य सरकार द्वारा बनाये गए इस नियम का विरोध भी हो रहा है। जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग के लिए है। पिछले साल 18 दिसंबर को सत्ता में आने के एक दिन बाद कांग्रेस सरकार ने इस योजना के तहत आर्थिक राशि 28 हजार रुपये से बढ़ाकर 51 हजार रुपये कर दी थी। इसके बाद से आवेदनों का सिलसिला बढ़ गया और अधिकारियों के लिए घर-घर जाकर टॉइलट निरीक्षण करना मुश्किल हो गया। इसलिए अब निरीक्षण के लिए टॉयलेट सेल्फी का नया उपाय निकाला है।

भारत का ग्रोथ रेट घटकर हुआ 5.8 फीसदी

-Mradul tripathi

Share.