रिश्वत न देने पर मृत्यु प्रमाणपत्र जारी किया

0

गुना: देशभर में भ्रष्टाचार(Corruption) मिटाने के लिए इन दिनों कड़ी कार्यवाई की जा रही है। शक के घेरे में आने वाली जगहों और लोगों पर सरकारी अधिकारियों द्वारा छापा मारा जा रहा है (Pradhan Mantri Awas Yojana)। उसके बाद भी रिश्वत लेने जैसी घटनाएं घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के गुना जिले से एक ऐसी ही घटना प्रकाश में आई है जिसमे पंचायत सचिव द्वारा एक बुजुर्ग महिला (Old Woman) से रिश्वत की मांग की गई और रिश्वत न देने पर उसका मृत्यु प्रमाण पत्र जारी कर दिया गया।

Haryana Assembly Elections : कांग्रेस ने जारी किया संकल्प पत्र

जानकारी के अनुसार गुना के चाचौड़ा पंचायत की 84 साल की बुजुर्ग महिला शांति बाई ने आरोप लगाया है कि प्रधानमंत्री आवास योजना (Pradhan Mantri Awas Yojana) के नाम पर पंचायत सचिव राजेंद्र सिंह के द्वारा उनसे पांच हजार रुपए रिश्वत कि मांग कि गई. रिश्वत नहीं देने के कारण पंचायत सचिव ने उसका मृत्यु प्रमाणपत्र जारी कर दिया. जनपद पंचायत कार्यालय पहुंचकर जब वृद्धा ने वरिष्ठ अधिकारी से सवाल किया, ‘मैं जिंदा हूं या मर गई’, तो दफ्तर में मौजूद लोग हैरान रह गए. मामले की जानकारी लेने के बाद मुख्य कार्यपालक अधिकारी ने आरोपी पंचायत सचिव से कारण बताओ नोटिस माँगा है।

 Modi-Xi Jinping Meet : भारत पहुंचे शी जिनपिंग, पीएम मोदी से करेंगे मुलाक़ात

जब शांति बाई को फर्जी मृत्यु प्रमाणपत्र जारी होने का पता चला, तो वो जनपद पंचायत कार्यालय पहुंची. यहां उसने जनपद कार्यालय के अधिकारियों को इस मामले की जानकारी देते हुए पूछा कि, ‘मैं ज़िंदा हूं या मर गई’, तो जिम्मेदार अफसरों को इसका जवाब नहीं सूझ रहा था। आरोपी सचिव राजेंद्र सिंह ने मामले में सफाई देते हुए कहा है की ये पूरी साजिस सरपंच की है मै इस पूरे मामले में निर्दोष हूँ।

Forbes India Rich List 2019 : यहां देखें Forbes India की पूरी लिस्ट

-Mradul tripathi

Share.