MP : घर में पटाखों का अवैध निर्माण, जोरदार ब्लास्ट से सब तबाह

0

दिवाली (Diwali 2019) आने वाली है तो जाहीर सी बात है कि पटाखों का निर्माण भी तेजी से हो रहा है।  दिवाली पर पटाखे जलाकर पल भर के धमाके से लोगों को खुशी तो मिलती है, लेकिन ये खुशियाँ कभी-कभी कई लोगों की जिंदगी तबाह कर देती है। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के ग्वालियर में भी पटाखों के अवैध निर्माण के कारण कई लोग मौत के मुंह में समा गए।

तख्तापलट करने वाली पाकिस्तानी सेना बनी इमरान का कवच

ग्वालियर (Gwalior Latest News) से 40 किलोमीटर दूर चीनौर के ग्राम नोन की सराय में एक घर में अवैध पटाखो का कारोबार चल  रहा था। रात के अंधेरे में परिवार अपने घर में पटाखे बना रहा था, लेकिन अचानक पटाखों में आग लग जाती है, जिससे चिंगारी उछल कर सिलेंडर के पास पहुँचती है और सिलेंडर आग की चपेट में आने के कारण फट जाता है। इस हादसे में नबी खान, उनकी बेटी रजिया और नबी के साढ़ू अबरीन की मौके पर ही मौत हो गई।  वहीं नबी की पत्नी रानी, बेटी निशा, बेटा साहिल, फरिहान और साली रुब्बो खान गंभीर रूप से झुलस गए हैं। जैसे ही ब्लास्ट हुआ कई लोग मलबे में दब गए थे, जिन्हें लोगों ने काफी मशक्कत के बाद बाहर निकाला।

जो बीजेपी में शामिल होगा, उसे जनता मारेगी जूते!

ब्लास्ट इतना जोरदार था कि आसपास के घरों कि दीवारों में भी दरार आ गई। घायलों को ग्वालियर (Gwalior Latest News) लाकर जेएएच की बर्न यूनिट में भर्ती कराया गया है। प्रदेश के खाद्य नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर घायलों को देखने जेएएच पहुंचे। हादसे के बाद एसपी नवनीत भसीन ने बताया कि नबी खान परिवार के साथ घर में ही पटाखे बनाता था। उसके घर में स्थित एक झोंपड़े में बारूद भरी थी। अचानक बारूद में चिंगारी लगने से विस्फोट हुआ तो सिलेंडर ने आग पकड़ी और फट गया।


हर साल पटाखों (Firecrackers) के अवैध निर्माण के कारण लोगों की जान जाती है, लेकिन इन पर  रोक नहीं लगी।  हर साल पटाखे फोड़ने के दौरान होने वाले हादसों में लोगों कि जान जाती है, लोग घायल होते हैं, पर्यावरण प्रदूषित होता है, लेकिन फिर भी पटाखे फोड़ने का लोगों का उत्साह खत्म नहीं होता।

पूर्व सीएम के रिश्तेदार की साँप काटने से मौत

         -Ranjita Pathare 

Share.