सरकार गठन पर दिग्विजय का तंज, मोदी है तो मुमकिन, खूब खाओ-खूब खिलाओ

0

भोपाल: महाराष्ट्र में राजनीतिक दंगल थमने का नाम ही नहीं ले रहा कभी बाजी शिवसेना के पाले में आते हुए दिखाई देती है तो कभी भाजपा की तरफ से सरकार का गठन कर लिए जाता है कुलमिलाकर महाराष्ट्र सियासत पर सरकार गठन को लेकर अभी तक कोई तस्वीर साफ़ नहीं हो पाई है ,हालांकि भाजपा के द्वारा आनन् फानन में सरकार का गठन करवा दिया गया है जिसमे देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) को सीएम और अजित पवार (Ajit Pawar) को डिप्टी सीएम बनाया गया है। लेकिन बाद में एनसीपी और शिवसेना (NCP and Shiv Sena) के विधायकों ने 162 विधायकों के साथ शक्ति प्रदर्शन कर ,सरकार गठन पर सवाल खड़ा कर दिया है। सबसे ख़ास बात यह है की अजित पवार के डिप्टी सीएम बनने के महज 48 घण्टे बाद एसीबी ने 70,000 करोड़ रुपए के सिंचाई घोटाले में अजित पवार को क्‍लीनचिट दी है. कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह (Congress leader Digvijay Singh) ने इस मसले पर भारतीय जनता पार्टी(Bharatiya Janata Party), देवेंद्र फडणवीस पर तीखा हमला बोला है. दिग्विजय ने लिखा कि ‘मोदी है तो मुमकिन है, खूब खाओ और खूब खिलाओ’.

महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम अजित पवार ने सौंपा इस्तीफा  

दिग्विजय सिंह ने मंगलवार सुबह लगातार कई ट्वीट किए, जिनमें उनके निशाने पर बीजेपी ही रही. उन्होंने लिखा, ‘देवेंद्र फडणवीस ने मुख्यमंत्री बनने के लिए भ्रष्टाचार के मुद्दे का इस्तेमाल किया, अब भ्रष्टाचार को ही सत्ता में बने रहने के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं. पहले वो कहते थे अजित दादा इन जेल घट्टी पीसिंग, पीसिंग एंड पीसिंग और अब कहते हैं, खूब खाओ और खिलाओ’. इसी के साथ दिग्विजय सिंह ने RSS प्रमुख से ही सवाल पूछ लिया, ट्वीट के अंत में उन्होंने लिखा मोहन भागवत जी आप कहां हैं? कुछ कहेंगे?

Video : सदन के अंदर पीएम का संबोधन, बाहर सोनिया गांधी का प्रदर्शन

अजित पवार के खिलाफ चल रहे मामलों की जांच बंद होने की खबर पर दिग्विजय सिंह ने एक और ट्वीट में कहा कि टैक्स पेयर की मेहनत की कमाई का 70 हजार करोड़ किसानों को सिंचाई के लिए पानी देने में खर्च हुआ. सिंचाई हुई नहीं, 70 हजार करोड़ कहां गया? जांच हो रही थी, अंसैवाधिनक सरकार का फैसला? जांच बंद करो, कुर्सी चाहिए, जनता जाए भाड़ में.

साथी की पिटाई से भड़के ऑटोचालक ‘डांसिंग कॉप’ सिंघम सस्पेंड!

-Mradul tripathi

Share.