अभद्रता करने पर प्रदर्शनकारियों को डिप्टी कलेक्टर ने मारा थप्पड़

0

राजगढ़: आमतौर पर प्रशासनिक अधिकारियों पर हमेशा ही राजनीतिक लोग रसूख बनाने की कोशिश करते हैं, लेकिन यदि नियमों के पार जाकर कोई हरकत की जाए तो फिर अधिकारी (Collector Slapped Youth) भी उसका मुंहतोड़ जवाब ही देते हैं। मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले के ब्यावरा (Biaora of Rajgarh district of Madhya Pradesh) में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) (Citizenship Amendment Bill) के समर्थन में निकाली गई रैली में जमकर हंगामा हुआ। बहस के दौरान कलेक्टर निधि निवेदिता ने भाजपा (BJP) के एक नेता को चांटा मार दिया। पुलिस ने लाठियां भांजी। इसमें दो लोगों के सिर फूट गए। इस दौरान राजगढ़ की डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा (Priya Verma, Deputy Collector of Rajgarh) ने एक प्रदर्शनकारी को चांटा मार दिया।

छापा डाला तो पता चला की भाजपा नेता ही है रेत माफिया

प्रदर्शन (Collector Slapped Youth) के दौरान प्रिया वर्मा (Priya Verma, Deputy Collector of Rajgarh)  के साथ बदसलूकी भी की गई। विडियो में देखा जा सकता है कि किसी कार्यकर्ता ने प्रिया वर्मा (Priya Verma, Deputy Collector of Rajgarh) के बाल खींच लिए। उन्होंने भाजपा (BJP) कार्यकर्ताओं को मारा- पीटा। प्रदर्शन के दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं को पीटे जाने के खिलाफ खुद पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान (Former Chief Minister Shivraj Singh Chauhan)  ने मोर्चा संभाला। उन्होंने राजगढ़ की घटना को लोकतंत्र के लिए काला दिन बताते हुए कई ट्वीट किए। उन्होंने पूछा कि क्या डिप्टी कलेक्टर को भाजपा कार्यकर्ताओं को पीटने का आदेश मिला था।

इंफोर्समेंट सब इंस्पेक्टर बनने का मौका

(Collector Slapped Youth) इस रैली को रोकने के लिए कलेक्टर ने जिले में धारा-144 लगाकर (Section 144 Imposed) ब्यावरा की सीमाएं सील कर दी थी। सारंगपुर विधायक कुंवरजी कोठार, पूर्व विधायक रघुनंदन शर्मा (Former MLA Raghunandan Sharma) , सांसद रोडमल नागर के पुत्र अंकेश नागर सहित सैकड़ों लोगों को ब्यावरा नहीं आने दिया गया। दोपहर एक बजे वैष्णोदेवी मंदिर से रैली की शुरुआत के लिए सुंदरकांड चल रहा था। वंदे मातरम के नारे लगाते लोग बाहर निकले तो कलेक्टर निधि निवेदिता ने वहां का दरवाजा बंद करना चाहा। पूर्व विधायक अमरसिंह यादव (Former MLA Amar Singh Yadav) को कलेक्टर ने पकड़ लिया, लेकिन वे छूटकर आगे बढ़ गए। गायत्री मंदिर के पास पुलिस ने लोगों को हिरासत में लेना चाहा तो पूर्व विधायक मोहन शर्मा सहित अन्य नेताओं की अफसरों से बहस हुई। कलेक्टर ने भाजपा मीडिया प्रभारी रवि बड़ोने को चांटा मार दिया।

(Collector Slapped Youth) पुलिस की कार्रवाई के विरोध में थाने के सामने करीब आधा घंटे तक धरना दिया गया। एसपी प्रदीप शर्मा (SP Pradeep Sharma) ने कहा कि जिन लोगों को हिरासत में लिया है, उन पर धारा 188 के तहत कार्रवाई होगी। वीडियो फुटेज में यदि कोई अन्य गैरकानूनी गतिविधि दिखी तो उस पर भी कार्रवाई होगी।राजगढ़ की कलेक्टर निधि निवेदिता ने बताया कि हमने रैली की अनुमति नहीं दी थी। धारा 144 (Section 144 imposed) लगाई थी, जो अराजक व गुंडा तत्व अपनी बात मनवाना चाहते थे, वे यहां आए थे। रैली निकालने के लिए कोशिश करते रहे। वीडियो से आरोपितों की पहचान की जा रही है।

(Collector Slapped Youth)  इस मामले पर राजनीति भी तेज़ हो गई है, जहां रैली रोकने को पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान (Former Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) अधिकारियों की हठधर्मिता बता रहे हैं, वहीं मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इसे भाजपा कार्यकर्ताओं का चरित्र बताया है। मुख्यमंत्री ने महिला अधिकारियों के साथ हुई बदसलूकी को गलत ठहराया है। मामले की जांच की जा रही है।

मध्य प्रदेश राजस्व विभाग में भर्तियाँ

-Mradul tripathi

Share.