website counter widget

अक्षय कुमार की फिल्म से प्रेरित होकर बन गए MP के पैडमैन

0

नीमच – बॉलीवुड के खिलाड़ी कुमार यानी कि अक्षय कुमार (Akshay Kumar) की बहुचर्चित फिल्म पैडमैन (Padman) तो सभी ने देखी होगी। लेकिन मध्यप्रदेश के एक छोटे से गांव में एक शख्स अक्षय कुमार की इस फिल्म से इतना ज्यादा प्रेरित हुआ कि उसने भी पैडमैन बनने की ठान ली। बस फिर क्या था उस शख्स ने अपने छोटे से गांव में ही सैनेटरी नैपकिन (Sanitary Napkin) बनाने का कार्य शुरू कर दिया। सैनेटरी नैपकिन बनाने का कार्य शुरू करने के बाद उसने अपने कार्य में महिलाओं को भी शामिल किया। महिलाओं को भी इस कार्य की वजह से रोजगार हासिल हो गया और वो शख्स बन गया उस छोटे से गांव का पैडमैन। आज हम आपको उसी शख्स के बारे में बताने जा रहे हैं।

दरअसल मध्यप्रदेश के नीमच जिले के एक छोटे से गांव ‘खोर’ के एक निवासी भूपेंद्र खोईवाल अक्षय कुमार अक्षय कुमार (Akshay Kumar) अभिनीत फिल्म पैडमैन (Padman) से इतने ज्यादा इंस्पायर हुए कि उन्होंने सैनेटरी नैपकिन (Sanitary Napkin) बनाने का कार्य शुरू डाला। उनके इस नए कार्य ने उन्हे एक नई पहचान दे दी। अब गांव वाले इन्हे भूपेंद्र नहीं बल्कि पैडमैन के नाम से पहचानते हैं। दरअसल एक बार जब भूपेंद्र ने अक्षय कुमार की पैडमैन फिल्म देखी तभी से इनके मन में महिलाओं की मदद करने की भावना जाग गई। बस फिर भूपेंद्र सभी कुछ भूलकर नैपकिन बनाना शुरू कर दिया।

Hacked Movie : हिना खान की पहली फिल्म, देखें फर्स्ट लुक

भूपेंद्र खोईवाल आज सिर्फ पैडमैन (Padman) नहीं हैं। मतलब ये सिर्फ सैनेटरी नैपकिन (Sanitary Napkin) नहीं बनाते बल्कि इसके साथ और भी कई कार्य करते हैं। जैसे भूपेंद्र ने महिलाओं को रोजगार दिया, इसके अलावा वे सभी महिलाओं को स्वच्छता के लिए जागरुक और प्रेरित करने का कार्य भी कर रहे हैं। भूपेंद्र ने बिना किसी की मदद के अपने खुद के खर्च से सैनेटरी नैकपिन बनाने की एक छोटी सी यूनिट लगा ली है। इसके अलावा ये पूरे जिले में जागरूकता अभियान भी चल रहे हैं। भूपेंद्र की यूनिट से जो सैनेटरी नैपकिन बनकर तैयार होती हैं वे बेहद ही सस्ती दरों पर महिलाओं को दी जाती हैं। भूपेंद्र की इस छोटी सी यूनिट में 15 महिलाओं को भी रोजगार दिया गया है।

सलमान की ‘राधे’ में बिग बॉस विनर की एंट्री

भूपेंद्र ने सैनेटरी नैपकिन (Sanitary Napkin) बनाने के लिए जो छोटी सी यूनिट लगाई है उसका ऐश्वर्या इंटरप्राइजेस रखा गया है। इस यूनिट में भूपेंद्र के घर के आस पास रहने वाली महिलाओं को रोजगार मिला है और अब धीरे-धीरे कई महिलाएं भूपेंद्र के इस कार्य में शामिल हो गई हैं। अभी तक भूपेंद्र ने अपनी इस यूनिट में तकरीबन 50 हजार सैनेटरी नैपकिन तैयार किए हैं। इन सैनेटरी नैपकिन को राजधानी भोपाल समेत दूसरे शहरों में भी भेजा गया है। भूपेंद्र की इस छोटी सी यूनिट में 8 नैपकिन के पैक की कीमत महज़ 20 रुपए है। जबकि बड़ी-बड़ी कंपनियों की बात की जाए तो उनके दाम बेहद ज्यादा होते हैं। भूपेंद्र अपनी टीम के साथ गांव का दौरा भी करते हैं और महिलाओं को पर्सनल हाईजीन और हेल्थ के बारे में जानकारी देते हैं और उन्हें जागरूक करते हैं। अक्षय कुमार की फ़िल्म ‘पैडमैन’ तमिलनाडु के अरुणाचलम मुरुगनाथम की ज़िंदगी पर आधारित थी। और इसी से भूपेंद्र को प्रेरणा मिली।

अक्षय कुमार के गाने फिलहाल ने बनाया रिकॉर्ड…

Prabhat Jain

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.