website counter widget

पूर्व सीएम शिवराज के घोटालों का राज, कैग रिपोर्ट का खुलासा

0

भोपाल: भारत के नियंत्रक और महालेखा परीक्षक (कैग) की रिपोर्ट में मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chouhan) के राज के वक्त कई विभागों में कथित तौर पर घोटाले और अनियमितता की तरफ इशारा किया गया है. कैग के अनुसार वाहन कर, स्टॉम्प पंजीकरण शुल्क, खनन, जल कर, वाणिज्यिक कर विभागों से सरकारी खजाने को कुल मिलाकर 6270.37 करोड़ का नुकसान हुआ. नर्मदा संरक्षण के नाम पर हुई नर्मदा यात्रा (Narmada Yatra) में घोटाले की बात निकलकर सामने आ रही है (Bhopal Narmada Yatra Scam). कैग ने अपनी ऑडिट रिपोर्ट (Audit Report) में यात्रा पर किए गए खर्च का ब्यौरा नहीं मिलने पर आपत्ति जाहिर की है. रिपोर्ट में बताया गया है कि नर्मदा यात्रा पर 21 करोड़ रुपए बिना अनुमति खर्च किए गए जिसमें से 18 करोड़ के खर्च का हिसाब किताब गायब है.

मुस्लिम समाज ज्यादा बच्चा पैदा कर उन्हें आतंकी बना रहा: भाजपा नेता

जनअभियान परिषद ने अपने उद्देश्य से हटकर 21 करोड़ रुपए खर्च किए प्रदेश के 40 जिलों के कलेक्टर और जिला पंचायत सीईओ को 21.67 करोड़ रुपए आवंटित किए गए थे, इनमें से केवल नौ कलेक्टरों ने 3.79 करोड़ का उपयोगिता प्रमाण पत्र भेजा बाकी 31 कलेक्टरों ने 18 करोड़ रुपए खर्च करने का अब तक हिसाब नहीं दिया (Bhopal Narmada Yatra Scam)। अकेले अमरकंटक में नर्मदा सेवा यात्रा के एक कार्यक्रम में केवल ट्रांसपोर्टेशन पर करीब 13 करोड़ का खर्च बताया गया है नर्मदा सेवा यात्रा बसों को ज्यादा भुगतान की बात भी सामने आई है. कैग रिपोर्ट ने इन सभी पर आपत्तियां जाहिर की गई है।

कश्मीरियों को मोदी सरकार का बड़ा तोहफा

कैग रिपोर्ट के बाद इस मुद्दे पर भाजपा (BJP) और कांग्रेस के नेताओं के मध्य जुबानी जंग चालु हो गई है। कांग्रेस  नेता मानक  अग्रवाल की माने तो उन्होंने कहा की कैग की रिपोर्ट बताती है कि किस प्रकार से जनता के पैसो की बर्बादी की गई है।  वही इस मामले में  भाजपा प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने कहा है  कि सरकार कैग के रिपोर्ट पर कार्यवाई करे दूध का दूध और पानी का पानी हो जायेगा।

उत्तरप्रदेश का रहने वाला अल-कायदा का प्रमुख!

-Mradul tripathi

 

 

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.