website counter widget

ज्योतिरादित्य का बायकोट, बाला बच्चन बनेंगे मध्यप्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष!

0

कांग्रेस पार्टी (Congress party) में लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections) के बाद से ही बवाल मचा हुआ है। काफी हंगामे के बाद कांग्रेस का अन्तरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Chairman Sonia Gandhi) को नियुक्त किया गया, लेकिन इसके बाद भी कांग्रेस का बवाल शांत नहीं हुआ है। अब मध्यप्रदेश के कांग्रेस अध्यक्ष के नाम पर बवाल शुरू हो गया है। पिछले काफी समय से यह कहा जा रहा था कि प्रदेश में ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) को कांग्रेस अध्यक्ष बनाया जाएगा, लेकिन अब कांग्रेस ज्योतिरादित्य का बायकोट कर,  बाला बच्चन को कमान सौंपने वाली है (Bala Bachchan will become the president of Madhya Pradesh Congress)!

Video : ये कैसा व्यवहार ? छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले के कन्या आश्रम की घटना

मध्यप्रदेश के नए कांग्रेस अध्यक्ष के नाम की घोषणा

मुख्यमंत्री कमलनाथ अभी मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष भी हैं। वे जल्द ही इस पद से इस्तीफा दे सकते हैं, लेकिन इसके बाद नया नाम तय नहीं किया जा रहा है। कहा जा रहा है कि जल्द ही मध्यप्रदेश के नए कांग्रेस अध्यक्ष के नाम की घोषणा हो सकती है। यह भी कहा जा रहा है कि 22 अगस्त के बाद नये अध्यक्ष के नाम की घोषणा हो सकती है। सीएम और वर्तमान पीसीसी चीफ कमलनाथ 22 अगस्त को दिल्ली में होंगे वो उसी दिन पार्टी की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाक़ात करने वाले हैं।

भाजपा में वापस लौटे शत्रुघ्न सिन्हा!

बाला बच्चन बनेंगे अध्यक्ष

प्रदेश के मंत्री सज्जन सिंह वर्मा का कहना है कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की कमान सीएम कमलनाथ के पसंद के व्यक्ति को मिलेगी, ताकि सत्ता और संगठन के बीच बेहतर समन्वय के साथ काम हो सके। बाला बच्चन पीसीसी चीफ के लिए उपयुक्त चेहरा हैं। सीएम कमलनाथ और सोनिया गांधी के बीच मशविरे के बाद ही पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष के नाम का ऐलान किया जाएगा।

सिंधिया को झटका

रेपिस्ट निकला बड़ा पत्रकार, अब तो जेल जाना पड़ेगा!

मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की इस दौड़ में सबसे पहला नाम बाला बच्चन (Bala Bachchan will become the president of Madhya Pradesh Congress) का लिया जा रहा है। उनके साथ ही उमंग सिंघार, ओमकार मरकाम और शोभा ओझा का नाम भी शामिल है। वहीं भाजपा का गुणगान करने और लोकसभा चुनाव में अपनी सीट हार जाने के बाद कांग्रेस ज्योतिरादित्य सिंधिया से खफा है और इसीलिए उनका नाम मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष से दूर ही रखा जा रहा है।

 

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.