पोस्टर पर निकला आकाश और निगम का झगड़ा

0

इंदौर में भाजपा और नगर निगम का विवाद लगातार बढ़ता ही जा रहा है | आकाश विजयवर्गीय द्वारा नगर निगम के अधिकारी को बैट मारे जाने के बाद जहां कांग्रेसी हमले की मुद्रा में हैं तो वहीं भाजपाई उनके समर्थन में उतर आए हैं | आकाश के समर्थन में शहर में जगह-जगह होर्डिंग लगाए गए थे, परन्तु निगम के कर्मचारियों ने उन्हें निकलवा दिया है |

अमित शाह ने सदन में कश्मीर को लेकर कहा…

मामले के अनुसार, भारतीय जनता पार्टी द्वारा आज आयोजित धरना-आंदोलन के पूर्व ही फिर मामले में एक बार नया मोड़ आ गया है। भाजपा ने जहां पूरे राजबाड़ा क्षेत्र में आकाश को सेल्यूट (Salute Akashji) के बोर्ड लगाए थे तो निगम ने धरना शुरू होने के दो घंटे पहले ही यह बोर्ड निकालकर जब्त कर लिए और अपने अटालाघर में डलवा दिए। ऐसा समझा जाता है कि निगम की इस कार्रवाई से निगम और भाजपा के बीच चल रहे संघर्ष में एक नया मोड़ आ जाएगा।

VIDEO : सलाखों में कैद विधायक आकाश का भविष्य

उल्लेखनीय है कि नगर भाजपा द्वारा विधायक आकाश विजयवर्गीय (Akash Vijayvargiya) की गिरफ्तारी के मामले में लगातार आन्दोलन चलाने का ऐलान किया गया है। कल पार्टी की कोर ग्रुप की बैठक में यह फैसला लिया गया कि विधायक के मामले को लेकर आज राजवाड़ा पर 12 से 3 बजे तक तीन घंटे का धरना दिया जाएगा। यह फैसला लेने के साथ ही पार्टी के द्वारा धरना-आन्दोलन की तैयारी शुरू कर दी गई। इस धरना-आन्दोलन को ध्यान में रखते हुए कल रात में ही राजवाड़ा पर अहिल्या प्रतिमा के चारों तरफ बने बगीचे के पोल पर छोटे-छोटे बोर्ड लगाए गए हैं, इस बोर्ड पर एक लाइन में संदेश लिखा है आकाशजी सेल्यूट।

इस तरह इस बोर्ड के माध्यम से भाजपा द्वारा निगम अधिकारी की क्रिकेट के बल्ले से पिटाई करने वाले अपने विधायक को सेल्यूट करते हुए इस घटना पर गर्व महसूस किया जा रहा है। आज सुबह से इस धरना-आन्दोलन के लिए विशाल मंच के निर्माण का कार्य शुरू हुआ। मंच इतना बड़ा बनाया जा रहा है कि बड़ी संख्या में नेता उस पर एक साथ बैठ सके। इस आन्दोलन को लेकर खासतौर पर तैयारी की जा रही है ताकि आन्दोलन की सफलता के माध्यम से एक बड़ा संदेश दिया जा सके।

नीमच के कनावटी जेलब्रेक मामले में 4 नए खुलासे

आज सुबह करीब 10 बजे नगर निगम की टीम राजबाड़ा पहुंची। यह टीम मार्केट विभाग की रिमूव्हल टीम थी। इस टीम के द्वारा राजबाड़ा क्षेत्र में भाजपा द्वारा आकाश को सेल्यूट देने के जो बोर्ड-पोस्टर लगाए गए थे, उन्हें निकालकर जब्त करने का काम शुरू कर दिया गया। जब यह टीम यह कार्रवाई कर रही थी, तब वहां भाजपा के कोई नेता-कार्यकर्ता मौजूद नहीं थे। अलबत्ता मंच लगाने वाले टेंट हाऊस के कर्मचारी मंच लगाने का काम कर रहे थे। यही कारण है कि नगर निगम की इस कार्रवाई का कोई विरोध नहीं हो सका।

निगम (Indore nagar nigam) के अमले ने अपनी कार्रवाई को अंजाम दिया और रवाना हो गया। ध्यान रहे कि निगम द्वारा इस तरह सड़क किनारे अथवा पोल पर लगाए गए बोर्ड-पोस्टर निकालकर जब्त कर उसे अपने अटाला घर में पहुंचा दिया जाता है। ऐसा समझा जाता है कि निगम के द्वारा की गई इस कार्रवाई से निगम और भाजपा के बीच चल रही जंग में एक नया मोड़ आ जाएगा।

Share.