website counter widget

Computer Baba पर आचार संहिता के उल्लंघन का मामला दर्ज

0

लोकसभा चुनाव के अंतर्गत मतदान के छठे चरण में भोपाल में भाजपा प्रत्याशी प्रज्ञा ठाकुर और कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजयसिंह के बीच मुकाबला हुआ था | दोनों प्रत्याशियों के चुनाव प्रचार के दौरान कई विवाद सामने आए थे| मतदान के बाद लग रहा था कि अब विवाद ख़त्म हो जाएंगे, लेकिन लग रहा है कि विवाद इनका पीछा छोड़ने का नाम ही नहीं ले रहा है| पहले तो भोपाल लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजयसिंह और बीजेपी प्रत्याशी प्रज्ञा ठाकुर (Pragya Thakur and Digvijay Singh) को चुनावी खर्च को फिर से नोटिस थमाया है| वहीं अब कम्प्यूटर बाबा (Computer Baba) भी बड़ी मुश्किल में फंस गए हैं|

प्रेमी जोड़े को इस कदर पीटा कि रूह कांप जाए

प्राप्त जानकारी के अनुसार, मध्यप्रदेश ( Madhya Pradesh)  की राजधानी भोपाल में पूर्व सीएम और कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजयसिंह (Digvijaya Singh) की जीत के लिए ‘हठ योग’ करने वाले कंप्यूटर बाबा अब मुश्किलों में घिर गए हैं। दिग्विजयसिंह के लिए चुनाव प्रचार करने के मामले में कंप्यूटर बाबा (computer Baba) के खिलाफ आचार संहिता के उल्लंघन (Model Code of Conduct) का मामला दर्ज किया गया है। कंप्यूटर बाबा ने भोपाल में दिग्विजयसिंह के समर्थन में रोड शो भी किया था।

कंप्यूटर बाबा (computer Baba) पर आरोप है कि आदर्श आचार संहिता की शर्तों का उल्लंघन करते हुए उन्होंने हवन-पूजन किया और रोड शो निकालकर दिग्विजयसिंह के पक्ष में प्रचार किया। भोपाल में कंप्यूटर बाबा की अगुआई में संतों ने हठ योग का आयोजन किया था, जिस पर जिला कलेक्टर ने जांच के आदेश दिए थे। इस कार्यक्रम को लेकर बीजेपी ने चुनाव आयोग से शिकायत की थी।

प्रज्ञा ठाकुर और दिग्विजयसिंह की बढ़ीं मुश्किलें

कंप्यूटर बाबा (computer Baba) ने कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह के समर्थन में एक रोड शो किया था। वहीं, आयोजन स्थल पर दिग्विजय सिंह के बड़े-बड़े कटआउट लगाए गए थे। आयोजन स्थल लगे एक बोर्ड पर लिखा था- दिग्विजय सिंह की जीत के लिए हजारों संतों का हठयोग।

भोपाल में चुनाव के दौरान हिंदुत्व का मुद्दा जोरों पर रहा और इस कार्यक्रम को दिग्विजय सिंह का काउंटर माना जा रहा था। कंप्यूटर बाबा (computer Baba) ने इस दौरान कहा था कि बीजेपी सरकार पांच साल में राम मंदिर भी नहीं बना पाई। अब राम मंदिर नहीं तो मोदी नहीं। बता दें कि भोपाल की हाईप्रोफाइल सीट पर बीजेपी ने साध्वी प्रज्ञासिंह ठाकुर को मैदान में उतारा तो वहीं, कांग्रेस ने पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह पर भरोसा जताया। भोपाल में पांचवें चरण के दौरान 12 मई को मतदान हुआ था।

फिर दहाड़े शिवराज सिंह, कहा …..

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.