मॉब लिंचिंग रोकने के लिए मप्र पुलिस तैयार

3

देशभर में बढ़ रही मॉब लिंचिंग की घटनाओं को देखते हुए मध्यप्रदेश की इंटेलिजेंस शाखा ने एक बड़ा कदम उठाया है। मध्यप्रदेश पुलिस ने एक स्पेशल टीम गठित की है। इन टीमों का नेतृत्व डीएसपी रैंक के अधिकारी करेंगे।

बनाई गाइडलाइन

मॉब लिंचिंग की घटनाओं को रोकने के लिए सभी पुलिस अधीक्षकों को इस संबंध में दिशा-निर्देश दिए हैं।  इसके अनुसार जिले में मौजूदा टीम का नेतृत्व डीएसपी रैंक के अधिकारी करेंगे। वही मॉब लिंचिंग जैसी घटनाओं को रोकने के लिए गाइडलाइन भी बनाई गई है।

सोशल मीडिया पर नज़र

पुलिस की स्थानीय खुफिया टीम वॉट्सएप सहित सोशल मीडिया पर नज़र रखेगी। इस पर किसी ने भ्रमित करने वाली, झूठी या फर्जी कहानी बनाकर वायरल की तो पुलिस उसके खिलाफ तत्काल एक्शन लेगी।

तत्काल गिरफ्तारी

उन जगहों को चिन्हित किया जाएगा, जहां पहले लिंचिंग की घटनाएं हुई हैं। वहां पर थाना प्रभारियों की लगातार बैठक लेने के भी निर्देश दिए गए हैं। साथ ही उन मामलों में तत्काल गिरफ्तारी कर कोर्ट में चालान पेश किए जाने के भी निर्देश दिए हैं।

सिंगरौली में महिला की हत्या – मॉब लिंचिंग

बता दें कि हाल ही में सिंगरौली जिले में बच्चा चोरी के शक में एक आदिवासी महिला की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। इस मामले में पुलिस ने 12 लोगों को गिरफ्तार किया था।

यह खबर भी पढ़े – 4 अगस्त को प्रदेशभर में स्व रोजगार मेला

यह खबर भी पढ़े – व्हिसल ब्लोअर का आरएसएस ने किया तिरस्कार

यह खबर भी पढ़े – प्रदेश के 1700 स्कूल ब्लॉक

Share.