website counter widget

image1

image2

image3

image4

image5

image6

image7

image8

image9

image10

image11

image12

image13

image14

image15

image16

image17

image18

शिवराज का फरमान, देशभक्ति का सबूत दें मुसलमान

0

मुसलमानों की देश में क्या स्थिति है, इसका एक और प्रमाण आज मध्यप्रदेश में देखने को मिला| यहां भाजपा शासन में मदरसों को अपनी देशभक्ति का सबूत सरकार के सामने रखना होगा। उत्तरप्रदेश की योगी सरकार की तर्ज पर मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर तिरंगा फहराने के बाद फोटो भेजने  का आदेश जारी किया है। प्रदेश सरकार का आदेश है कि राज्य के सभी मदरसे 15 अगस्त को तिरंगा फहराकर रैली निकालें और इस रैली की फोटो सरकार को भेजना अनिवार्य है। मदरसों को अपने राष्ट्रप्रेम का प्रमाण 15 अगस्त में तिरंगे के साथ फोटो भेजकर देना होगा। इस मामले पर राजनीतिक बहस भी तेज़ होती दिखाई दे रही है।

2017 में यूपी की योगी सरकार ने भी कुछ ऐसा ही सर्कुलर जारी किया था।  अब मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह भी योगी आदित्यनाथ की राह पर चल पड़े हैं। प्रदेश में मुख्यमंत्री ने मुसलमानों से राष्ट्रभक्ति का सबूत तक मांग डाला। अब सवाल यह उठता है कि मुसलमानों के हक़ की बात करने वाली भाजपा यह दोहरा मापदंड क्यों दिखा रही है? क्या देश में रहने वाले हर मुसलमान को अब देशभक्ति का सबूत देना होगा।

चुनावी साल में भाजपा एक बार फिर देश के ज़रूरी मुद्दों से लोगों का ध्यान धर्म की ओर भटका रही है।  ऐसे में मध्यप्रदेश सरकार का यह आदेश सियासत गर्म करने के साथ देश में मुसलमानों की स्थिति पर कई सवाल खड़े करता है।

मध्यप्रदेश में मुसलमानों को लेकर इससे पहले कभी इस तरह का आदेश जारी नहीं किया गया, लेकिन इस स्वतंत्रता दिवस पर मदरसों को लेकर जारी किए गए इस आदेश के बाद प्रदेश की भाजपा सरकार भी निशाने पर आ गई है|

आदेश जारी होने के बाद कांग्रेस ने इसे मुसलमानों के प्रति भाजपा का रवैया बताया है| प्रदेश कांग्रेस कमेटी की मीडिया प्रभारी शोभा ओझा ने इसे भाजपा का असली चेहरा बताया|

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.