कैसे होगी किसानों की कर्ज़माफी  ?

0

मध्यप्रदेश को 13 साल बाद नए मुख्यमंत्री मिल गए हैं। कमलनाथ(Kamal Nath) अब प्रदेश के शहंशाह होंगे। 17 दिसंबर को वे शपथ ग्रहण करेंगे। अब सबकी निगाहें कांग्रेस के उस वादे पर है, जिसे कांग्रेस ने खुद चुनाव के समय ज़ोर-शोर से प्रचारित किया था।दरअसल, चुनाव प्रचार पर मध्यप्रदेश दौरे के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi)ने ऐलान किया था कि 10 दिनों में किसानों का कर्ज़ माफ नहीं हुआ तो 11वें दिन मुख्यमंत्री नहीं रहेगा। भाजपा भी जैसे ही विपक्ष में आई, उसने कांग्रेस को इस मुद्दे पर घेरना शुरू कर दिया। अब किसान भी उम्मीद में है कि उन्हें कर्ज़ से मुक्ति मिलेगी।

बता दें कि मध्यप्रदेश के किसानों पर अनुमानित 72 हजार करोड़ का कर्ज़ है, जिसमें सभी तरह के बैंकों के कर्ज़ शामिल हैं। इसमें 16 हजार करोड़ डूबत खातों का और 56 हजार करोड़ किसानों का कर्ज़ है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी.चिदंबरम ने इस कर्ज़ माफी को लेकर एक फॉर्मूला भी तैयार कर लिया है।

रिपोर्ट के मुताबिक, सरकार जून 2009 के बाद कर्ज़ माफ करेगी क्योंकि इसके पहले यूपीए के समय कर्ज़ माफ कर दिया गया था। कांग्रेस की इस कर्ज़ माफी से करीब 33 लाख किसानों को लाभ मिलने का अनुमान है। सरकार सिर्फ खेती के लिए लिया गया ऋण ही माफ करेगी। कृषि उपकरण और अन्य व्यवस्थाओं के लिए लिया गया कर्ज़ माफ नहीं होगा। वहीं सबसे पहले किसानों के सहकारी बैंकों के कर्ज़ माफ होंगे।

आखिर क्यों तिहाड़ जेल गए थे कमलनाथ

जानें आखिर कौन हैं मप्र के नए सीएम कमलनाथ ?

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री बने कमलनाथ

Share.