आज से किसानों के क़र्ज़ माफ़ होना शुरू

0

विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस ने अपने घोषणा-पत्र में किसानों का कर्ज माफ़ किए जाने की बात कही थी| यह उनकी जीत का सबसे महत्वपूर्ण कारण रहा| मप्र में कांग्रेस को जीत मिलने के बाद निर्वाचित मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शपथ ग्रहण समारोह के तत्काल बाद किसानों की कर्ज माफी (MP Debt Waiver Process) के आदेश पर हस्ताक्षर कर दिए थे| इससे जनता के सामने उनकी ईमानदार छवि प्रस्तुत हुई थी| अब 15 जनवरी यानी आज से किसानों को फसल ऋण माफी योजना (MP Debt Waiver Scheme) का फायदा मिलना शुरू हो रहा है|

तीन चरणों में प्रदेशभर के किसानों का दो लाख रुपए तक का कृषि ऋण माफ किया जाएगा| भोपाल में मुख्यमंत्री कमलनाथ इस प्रक्रिया की शुरुआत करेंगे और इसके साथ ही किसानों को कर्ज माफी का फायदा मिलना शुरू हो जाएगा|

कर्ज माफी ऐसे होगी (MP Debt Waiver Process)

# किसानों के खाते में सीधे रकम डाली जाएगी|फसल ऋण खाते में किसानों का आधार नंबर होना ज़रूरी है|
# जिन किसानों के फसल ऋण खाते में आधार नंबर नहीं है, उन्हें जोड़ने का मौका मिलेगा|
# किसानों के फसल ऋण खाते में उनके माफ कर्ज़ की रकम जमा करवा दी जाएगी|
# छोटे और बहुत छोटे किसानों को प्राथमिकता मिलेगी|

 ये है कर्जमाफी की प्रक्रिया

# कर्जमाफी के लिए MP-online पोर्टल तैयार करेगी|

# पोर्टल का मैनेजमेंट किसान कल्याण और एग्रीकल्चर विभाग देखेगा|

# जिला कलेक्टर की अगुआई में हर पंचायत स्तर कर्जमाफी के लिए पात्र किसानों की लिस्ट बनेगी|

कर्जमाफी के आवेदन में रंगों का मतलब

# हरे रंग के आवेदन- आधार कार्ड (Aadhar Card) से जुड़े कर्ज खाते

# सफेद रंग के आवेदन- आधार नहीं जुड़े कर्ज खाते

# कर्ज माफी की लिस्ट प्रकाशित होने के बाद पंचायतों में हरे और सफेद फार्म मिलेंगे|

# गुलाबी फार्म – किसान लिस्ट के बारे में अपनी आपत्ति दर्ज कराने वाला फार्म

कर्जमाफी की अहम तारीखें

# 15 जनवरी तक संबंधित बैंक ब्रांच में लगाई जाए और पोर्टल में भी डाली जाएगी|

# 26 जनवरी को ग्रामसभा की बैठक में हरे, सफेद और गुलाबी फार्म की जानकारी दी जाएगी|

# 26 जनवरी तक अर्जी नहीं दे पाने वाले किसानों को 5 फरवरी 2019 तक ग्राम पंचायत में जमा करने का एक और मौका दिया जाएगा|

# 15 जनवरी से 5 फरवरी के बीच ऐसे ऋण खाते आधार लिंक कराए जा सकेंगे जो आधार से नहीं जुड़े|

# ऑफ लाइन आवेदनों को 26 जनवरी 2019 तक पोर्टल में डाल दिया जाएगा|

# जिन किसानों के कर्ज आधार से नहीं जुड़े उन्हें बैंक जाकर आधार से जुड़वाना होगा|

# जो किसान आधार कार्ड (Aadhar Card) से कर्ज लिंक नहीं कराएंगे उनको कर्जमाफी नहीं मिलेगी|

# यदि जमीन ग्राम पंचायत के दायरे में है तो अर्जी पंचायत में और शहर में जमीन है तो नगरीय निकाय के दफ्तर में जमा होगी|

आवेदन पत्र के साथ क्या-क्या जमा करें

# आधार कार्ड (Aadhar Card) की फोटो कॉपी|

# सरकारी या क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक है तो ऋण खाता पासबुक का पहले पन्ने की फोटोकॉपी|

# सहकारी बैंक या कृषि समिति से लोन लिया गया है तो ऋण खाता पासबुक की ज़रूरत नहीं|

# जमीन अगर कई पंचायतों में आती है तो जिस पंचायत में उसका घर है वहां अर्जी जमा होगी|

किसानों को कैसे पता चलेगा

#  जानकारी अपलोड होते ही किसानों को sms से सूचित करेगी|

#  पोर्टल में भरे गए आवेदन की फोटो कॉपी भी किसान को दी जाएगी|

#  जिन किसानों ने आधार कार्ड (Aadhar Card) या ऋण खाते का नंबर नहीं दिया है उनके अलग से वक्त मिलेगा|

#  कर्ज की रकम किसान के खाते में डालते ही उन्हें sms से सूचित किया जाएगा|

#  भुगतान के बाद किसानों को ऋण मुक्ति प्रमाण-पत्र भी दिया जाएगा|

-अंकुर उपाध्याय

ओडिशा में जमकर गरजे पीएम

Mayawati Birthday 2019 : जन्मदिन पर मायावती ने मांगा तोहफा

OMG : इस हालत में इटारसी पहुंची ट्रेन और…

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.