VIDEO: मेहुल चोकसी पहली बार आया सामने, कहा – सारे आरोप गलत

0

देश के सबसे बड़े बैंकिंग घोटाले के आरोपी मेहुल चोकसी ने खुद को निर्दोष बताया है। मेहुल चोकसी ने एक वीडियो जारी कर कहा है कि ईडी ने गलत तरीके से मेरी संपत्ति को जब्त किया है। ईडी के लगाए गए सभी आरोप झूठे और निराधार हैं। गौरतलब है कि अरबों रुपए के घोटाले के सामने आने के बाद यह पहली बार है, जब मेहुल ने एक वीडियो के माध्यम से अपना पक्ष रखा है। 

मेहुल चोकसी ने कहा कि भारतीय पासपोर्ट का सस्पेंशन रद्द करवाने की कोशिश की थी। भारतीय पासपोर्ट अथॉरिटी ने मेरे पासपोर्ट को सस्पेंड कर दिया, जिस कारण मैं कहीं आने-जाने लायक नहीं रहा। उन्होंने कहा कि इसके जवाब में 16 फरवरी को मुझे एक ई-मेल मिला, जिसमें कहा गया कि मेरे पासपोर्ट को सस्पेंड कर दिया गया है। 20 फरवरी को मैंने रीजनल पासपोर्ट ऑफिस मुंबई को एक ई-मेल भेजा और पासपोर्ट बहाल करने की अपील की। मुझे इसका जवाब नहीं दिया गया।

चोकसी ने कहा कि पीएनबी केस में बलि का बकरा बनाया गया है। उन्होंने कहा कि पीएनबी घोटाले पर मुझे इस केस की ज्यादा जानकारी नहीं है क्योंकि बैंकरों से कंपनी के अफसर बातचीत करते थे। चोकसी ने कहा कि वे पीएनबी घोटाले की भरपाई नहीं कर पाएंगे क्योंकि वे कंगाल हो गए हैं। उनकी सारी संपत्ति जब्त हो चुकी है।

वहीं इसे पहले ही एंटीगुआ सरकार ने मेहुल चोकसी मामले पर भारत सरकार को झटका दिया। एंटीगुआ सरकार ने साफ तौर पर चोकसी को भारत भेजने से इनकार कर दिया। इस मामले में भारत सरकार की खुलकर लापरवाही सामने आई। एंटीगुआ सरकार ने चोकसी को लेकर जो सवाल पूछे थे, भारत सरकार की ओर से उनका जवाब तक नहीं भेजा। भारत सरकार ने मेहुल को लेकर एंटीगुआ प्रशासन से तीन मांग मांगी थी, जिनमें कहा गया कि मेहुल चोकसी को औपचारिक तौर पर गिरफ्तार किया जाए, उसका पासपोर्ट रद्द किया जाए और उसे भारत प्रत्यर्पण किया जाए। इस पर एंटीगुआ प्रशासन ने भारत सरकार की तीनों मांगों को नकार दिया|

मेहुल चोकसी: 130 देशों में बिना वीजा घूमने के लिए…

नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के खिलाफ…

एंटीगुआ से वापस नहीं लौटेगा मेहुल चौकसी, जानिए क्यों?

Share.