खदान में फंसे मजदूरों की ऐसे करेंगे मदद

0

मेघालय के पूर्वी जयंतिया हिल्‍स में पिछले 16 दिनों से 15 नाबालिग मजदूर फंसे हुए हैं| पिछले 13 दिनों तक राहत कार्य में सुस्ती देखी जा रही थी, लेकिन अब बचाव  कार्य तेज़ हो गया है| मजदूरों की तलाश में टीमों को अभी तक सफलता नहीं मिली है| जांच के दौरान शनिवार को 3 हेलमेट बरामद हुए हैं| कहा जा रहा है कि ये हेलमेट उन्‍हीं मजदूरों के हैं, जो खदान में फंसे हुए हैं|

जानकारी के अनुसार, 13 दिसंबर को मेघालय की 370 फुट गहरी अवैध कोयला खदान धंस गई, जिसके बाद से ही वहां मजदूर फंसे हैं| बचाव कार्य में शामिल होने के लिए भारतीय नौसेना के कुछ लोग भी शनिवार को वहां पहुंच गए हैं| इस बारे में नौसेना के प्रवक्ता ने कहा, “आंध्रप्रदेश में विशाखापत्तनम से 15 सदस्यीय गोताखोर टीम शनिवार सुबह पूर्वी जयंतिया पर्वतीय जिले के सुदूरवर्ती लुम्थारी गांव पहुंचेगी| यह टीम विशेष रूप से डाइविंग उपकरण ले जा रही है, जिसमें पानी के भीतर खोज करने में रिमोट संचालित वाहन शामिल हैं|”

बताया जा रहा है कि कोयला खदान के लिए 18 हाईपॉवर पंप रवाना किए गए| किर्लोस्‍कर कंपनी के कर्मी वहां पहुंच चुके हैं| ओडिशा दमकल सेवा की 20 सदस्यीय टीम भी भुवनेश्‍वर से उपकरणों के साथ वहां के लिए रवाना हुई थी| वे हाई पॉवर पंप और हाईटेक उपकरण लेकर पहुंच रहे हैं| इस बारे में एक अधिकारी ने कहा, “वे कोयला खदान में फंसे मजदूरों को बचाने में स्थानीय अधिकारियों की मदद करेंगे| दल के पास कम से कम 20 हाई पॉवर पंप हैं| ओडिशा उन चुनिंदा राज्यों में से एक है, जिसे इस तरह की आपदाओं से निपटने का अनुभव है|”

मेघालय में फंसे मजदूरों को ये बचाएंगे

क्या मर चुके हैं खदान में फंसे सभी मजदूर?  

खदान में फंसे 13 मजदूरों की अहमियत कितनी ?

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.