क्या मर चुके हैं खदान में फंसे सभी मजदूर?  

0

मेघालय के ईस्ट जयंतिया हिल्स में हुए हादसे के 14 दिन बाद भी वहां फंसे सभी मजदूरों को बाहर नहीं निकाला जा सका है| अब ऐसा माना जा रहा है कि उन सभी मजदूरों की मौत हो चुकी है| दरअसल, उन्हें बाहर निकालने के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की टीम लगातार कोशिशें कर रही हैं, लेकिन टीम को खदान के अंदर से दुर्गंध आ रही है|

इस बारे में एनडीआरएफ के सहायक कमांडेंट संतोष सिंह ने बताया, “यह अच्छा संकेत नहीं है| जवानों का कहना है कि दुर्गंध इस बात का संकेत हैं कि श्रमिकों की मौत हो चुकी है और उनके शवों ने सड़ना शुरू कर दिया है|” मजदूरों को इसीलिए नहीं निकाला जा सका क्योंकि उन्हें निकालने के लिए पर्याप्त साधन मौजूद नहीं है| सोमवार से पानी को बाहर निकालना बंद कर दिया है क्योंकि 25 हॉर्स पॉवर वाले पंप अप्रभावी साबित हुए हैं| एनडीआरएफ ने जिला प्रशासन से कम से कम 100 हॉर्स पॉवर वाले पंप मांगे हैं| एनडीआरएफ ने इस मामले में सरकार से मदद मांगी है, लेकिन अभी तक कोई सरकारी कार्रवाई नहीं हुई|

एनडीआरएफ के 70 और राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल के 22 जवान मौके पर मौजूद हैं| बचाव अधिकारियों का कहना है कि उन्हें फंसे हुए मजदूरों के स्टेटस और उनकी उपस्थिति के बारे में कोई भी जानकारी नहीं मिल पा रही है| एनडीआरएफ के तीन गोताखोरों को पानी का स्तर जांचने के लिए खदान में भेजा था, लेकिन ये कोशिश भी नाकाम ही रही| फिलहाल एनडीआरएफ उपलब्ध साधनों से ही बचाव कार्य और सरकारी मदद की प्रतीक्षा कर रही है|

मेघालय में फंसे मजदूरों को ये बचाएंगे

खदान में फंसे मजदूरों की ऐसे करेंगे मदद

क्या मर चुके हैं खदान में फंसे सभी मजदूर?

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.