रतलाम में मिलादुन्नबी पर निकला विशाल जुलूस

0

ईद मिलादुन्नबी का पर्व पैगम्बर मोहम्मद के जन्म की याद में मनाया जाता है। यह दिन पैगम्बर को याद करने और उनके उपदेशों के लिए विशेष तौर पर समर्पित होता है। माना जाता है की 570 ईसवी में पैगंबर मोहम्मद का जन्म मक्का में हुआ था। इस्लामी कैलेंडर हिजरी के मुताबिक 12 रबी-उल-अव्वल को उनका जन्म हुआ था। इस दिन लोग अपने घरों, दुकानों और मस्जिदों को सजाते हैं और घर से बाहर निकलकर जुलूस निकालते हैं। इस जुलूस में महिलाओं सहित हर उम्र के लोग शामिल होते हैं और इसमें पैगम्बर के संदेशों को सुनाया जाता है। हज़रत नबी को इस्लाम का आखिरी नबी माना जाता है।

मुस्लिमों का मानना है कि उनके बाद अब कोई नबी नहीं आएगा। मिलादुन्नबी के मौके पर आज रतलाम में मुस्लिम धर्मावलंबियों ने एक विशाल जुलूस निकाला। दुपहिया, पैदल, ट्रैक्टर और तमाम वाहनों से लोग इस जुलूस में शामिल हुए। जुलूस की वजह से लोकेंद्र टॉकिज और शहरसराय चौराहों पर लंबा जाम भी देखने को मिला। मुस्लिम धर्मावलंबी उत्साह के साथ इस जलसे में शामिल हुए, जिनका जगह-जगह फूल बरसाकर शहरवासियों द्वारा स्वागत किया गया। जुलूस और आचार संहिता के चलते पुलिस प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद नज़र आया और जुलूस शांति के साथ संपन्न हो गया।

Share.