मराठा आरक्षण मामला: 24 घंटे में 2 लोगों ने की आत्महत्या

0

देश आरक्षण की आग जैसी कई समस्याओं से जूझ रहा है| कभी अधिनियम में बदलाव करने की मांग तो कभी बदलाव का विरोध, वहीं कभी आरक्षण की मांग को लेकर देशभर में प्रदर्शन किया जाता है| अल्पसंख्यकों को आरक्षण देने के बाद अब मराठा समाज भी इस कड़ी में शामिल होना चाहता है| पिछले कई दिनों से देश में मराठा आरक्षण को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं| इसमें कई लोगों की जान भी जा चुकी है| अब महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले में इस आंदोलन में 24 घंटे के अंदर दो और जानें लील ली|

जानकारी के अनुसार, औरंगाबाद में 24 घंटे के अंदर मराठा समुदाय के दो छात्रों ने आत्महत्या कर ली| इस बात की जानकारी औरंगाबाद पुलिस ने दी| पुलिस ने बताया कि जिले के खुलदाबाद तहसील के गल्ले बोरगांव गांव में 26 वर्षीय शिवाजी हरदे  का शव उसके खेत में पेड़ से लटका मिला| मृतक की जेब से एक ख़त मिला जिसमें उसने सरकार पर आरोप लगाया और लिखा था कि सरकारी नौकरियों एवं शिक्षा संस्थानों में मराठा समुदाय को आरक्षण नहीं दिए जाने के कारण वह यह कदम उठा रहा है|

मराठा आरक्षण मामले के कारण अहमदनगर की एक छात्रा ने भी आत्महत्या कर ली| छात्रा बब्बन कनाडे ‘राधाबाई काले महिला महाविद्यालय’ में कक्षा 11वीं में पढ़ती थी| उसके द्वारा लिखे गए सुसाइड नोट में भी आरक्षण के बारे में जिक्र था| छात्रा ने लिखा, “मराठा समुदाय के लिए आरक्षण की मांग को लेकर मैं बलिदान दे रही हूं| इस साल शुरू में हुई 10वीं कक्षा की परीक्षा में 89 प्रतिशत अंक मिलने के बाद भी आर्थिक तंगी की वजह से उस जगह दाखिला नहीं ले सकी, जहां उसका सपना था| मराठा समुदाय में पैदा होने की वजह से अन्याय का सामना किया है|” गौरतलब है कि मराठा आरक्षण को लेकर 2 महीने के अंदर 8 लोगों ने आत्महत्या की है|

मराठा आरक्षण आंदोलन फिर हुआ हिंसक, 25 गाड़ियां जलाई

महाराष्ट्र में मराठा आंदोलन में जेल भरो आंदोलन का आगाज़

मराठा आंदोलन : 100 से ज्यादा वाहन फूंके..

Share.