महाराष्ट्र में मराठा आंदोलन में जेल भरो आंदोलन का आगाज़

0

महाराष्ट्र में आरक्षण की मांग को लेकर शुरू हुआ मराठा आंदोलन जंगल में लगी आग के जैसे तेज़ी से फैलता जा रहा है| इस आग की चपेट में कितने ही लोगों की जान चली गई वहीं 150 से अधिक वाहनों की भी आहुतियां दे दी गई हैं| अब आंदोलन ने नया रूप धारण कर लिया है| अब आंदोलनकारियों ने मुंबई में जेल भरो आंदोलन की शुरुआत कर दी है|

आंदोलन को देखते हुए महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है और पूरे राज्य में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करवाए हैं| आंदोलनकारियों ने पुणे के सोलापुर में हाईवे जाम कर दिया, जिससे यातायात बाधित हो गया| वहीं मंगलवार को औरंगाबाद-जलगांव मार्ग पर ‘रास्ता रोको’ प्रदर्शन हुआ था|

मराठवाड़ा क्षेत्र के लातूर जिले में मराठा आरक्षण  की मांग को लेकर आठ  प्रदर्शनकारियों ने अपने शरीर पर केरोसिन छिड़ककर आत्मदाह की कोशिश की| इसके बाद मराठा समुदाय के लोगों ने कहा कि राज्य की भाजपा सरकार प्रदर्शनकारियों के खिलाफ दर्ज आपराधिक मामलों को वापस लेने में विफल रही है| अब मुंबई में जेल भरो आंदोलन के माध्यम से मांगें सरकार तक पहुंचाई जाएंगी|

कहा जा रहा है आरक्षण की मांग के समर्थन में नौ अगस्त को मुंबई में एक महारैली की जाएगी| लातूर के पुलिस अधीक्षक शिवाजी राठौड़ का कहना है कि जिले के औसा में तहसीलदार कार्यालय के बाहर आठ लोगों ने आत्महत्या करने की कोशिश की, लेकिन पुलिस ने समय पर उन्हें शांत करवाया|

गौरतलब है कि राज्य सरकार द्वारा 72,000 नियुक्तियां किए जाने के संकेत मिलने के बाद यह आंदोलन और तेज़ हो गया| मराठा समाज लंबे समय से शिक्षा और नौकरियों में आरक्षण की मांग करते आ रहा है| वहीं सीएम फडनवीस ने आश्वासन दिया है कि मराठा आरक्षण पर कोर्ट का फैसला आने तक इन भर्तियों में इस समुदाय को 16 फीसद आरक्षण दिया जाएगा|

Share.