सबसे पवित्र नगरी में हुआ शिवलिंग का अपमान

1

हिंदू धर्म में शिवलिंग की बड़ी मान्यता है। शिवलिंग की पूजा की जाती है, लेकिन अब यूपी के वाराणसी से शिवलिंग को फेंके जाने का एक मामला सामने आया है। वाराणसी में काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का काम चल रहा है। काम के कारण कॉरिडोर के रास्ते में आने वाली इमारतों को तोड़ा जा रहा है। यहां लंका थाना क्षेत्र के रोहित नगर में तोड़फोड़ के दौरान इमारतों के मलबे में काफी शिवलिंग भी पड़े मिले। इससे क्षेत्र के लोगों में आक्रोश फैल गया। सूचना मिलते ही स्थानीय लोग और संत भी मौके पर पहुंच गए, जहां उन्होंने विरोध किया।

मलबे के साथ फेंके गए शिवलिंग की तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर तेज़ी से वायरल हो रहे हैं। काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के निर्माण कार्य के दौरान शिवलिगों के अपमान को लेकर आक्रोश है। हालात तनावपूर्ण होने की आशंका के कारण मौके पर पुलिस बल को तैनात किया गया है। लोगों ने मलबे में फेंके गए शिवलिंग अपने साथ ले जाने शुरू कर दिए थे। हालांकि पुलिस ने लोगों को शिवलिंग उठाने से रोक दिए। पुलिस ने शिवलिंगों को थाने भिजवा दिया है।

मामले की सूचना मिलते ही संत और कांग्रेस नेता अजय राय मौके पर पहुंच गए। उन्होंने जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। काफी देर तक हुए हंगामे के बाद पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। पुलिस का कहना है कि इस बात की जांच की जाएगी कि बड़ी संख्या में शिवलिंग कहां से आए और इन्हें किसने फेंका।

वाराणसी हादसा : रेस्क्यू ख़त्म, दो पर कार्रवाई

वाराणसी हादसा : सीएम को सौंपी जांच रिपोर्ट

संकटमोचन मंदिर पर संकट, मिली धमाके की धमकी

Share.